क्रिकेट : धीरे-धीरे खत्म हो रहा एकदिवसीय क्रिकेट : ख्वाजा

July 22nd, 2022

हाईलाइट

  • एक क्रिकेटर के लिए खेल के तीनों प्रारूपों में खेलना आसान नहीं होगा

डिजिटल डेस्क, ब्रिसबेन। ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा को लगता है कि एकदिवसीय क्रिकेट धीरे-धीरे खत्म होता जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि वह इंग्लैंड के टेस्ट कप्तान ऑलराउंडर बेन स्टोक्स के संन्यास लेने के विचार पर आश्चर्यचकित नहीं थे। ख्वाजा ने आगे कहा, मेरी अपनी निजी राय है। आपके पास टेस्ट क्रिकेट है, जो शिखर है, आपके पास टी20 क्रिकेट है, जिसमें स्पष्ट रूप से दुनिया भर में लीग हैं, यह लोगों का मनोरंजन है, क्रिकेट प्रशंसक सबसे ज्यादा इस लीग से प्यार करते हैं। इसके बाद एकदिवसीय क्रिकेट है।

ब्रिस्बेन में ख्वाजा ने कहा, मुझे लगता है कि शायद वनडे क्रिकेट उन सभी में से तीसरे स्थान पर है। व्यक्तिगत रूप से एक दिवसीय क्रिकेट धीरे-धीरे खत्म होता जा रहा है। जो मुझे लगता है कि वास्तव में मजेदार है और इसे देखना सुखद है। ख्वाजा ने 2019 पुरुष क्रिकेट विश्व कप के बाद से ऑस्ट्रेलिया के लिए आखिरी बार एकदिवसीय मैच खेला था। उनका मानना है कि देश में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले पुरुष टी20 विश्व कप के कारण 50 ओवर के मैचों का बहुत कम महत्व है।

घर पर अपने टी20 विश्व कप खिताब का बचाव करने से पहले, ऑस्ट्रेलिया को जिम्बाब्वे और न्यूजीलैंड के खिलाफ क्रमश: टाउन्सविले और केर्न्‍स में तीन-तीन एकदिवसीय मैच खेलने हैं। इसके बाद वे 2022 में पुरुषों के टी20 विश्व कप की तैयारी के हिस्से के रूप में दो टी20 में वेस्टइंडीज और तीन टी20 में इंग्लैंड का सामना करने से पहले एक तीन मैचों की टी20 सीरीज के लिए भारत के लिए उड़ान भरेंगे।

सिडनी में चौथे एशेज टेस्ट में दो शतक लगाकर शानदार वापसी करने वाले ख्वाजा ने स्वीकार किया कि एक क्रिकेटर के लिए खेल के तीनों प्रारूपों में खेलना आसान नहीं होगा। उन्होंने आगे कहा, यदि आप खेल के तीनों प्रारूप खेल रहे हैं, तो आप पर काफी दबाव रहता है। यह असंभव नहीं है, लेकिन बहुत कठिन भी नहीं है।

 

 (आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.