आजादी का अमृत महोत्सव: मणिपुर में स्वतंत्रता दिवस पर हिंसा फैलाने की कोशिश नाकाम, 8 उग्रवादी पकड़े गए

August 15th, 2022

हाईलाइट

  • हिंसा फैलाने की कोशिशों को नाकाम किया

डिजिटल डेस्क, इंफाल। प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के आठ शीर्ष उग्रवादी को मणिपुर के चार जिलों से गिरफ्तार किया गया और स्वतंत्रता दिवस से पहले हिंसा भड़काने की उनकी कोशिश को नाकाम कर दिया गया। रक्षा सूत्रों और पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी।

एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि मणिपुर में 75 वें स्वतंत्रता दिवस समारोह को बाधित करने के लिए प्रतिबंधित विद्रोही समूह पीएलए के नापाक मंसूबे को एक बड़ा झटका देते हुए, मणिपुर पुलिस के साथ असम राइफल्स ने 11 से 13 अगस्त तक खुफिया-आधारित संयुक्त अभियानों की एक श्रृंखला शुरू की और हिंसा फैलाने की कोशिशों को नाकाम कर दिया।

उन्होंने कहा कि पीएलए के आठ कट्टर उग्रवादियों को इंफाल पूर्व, इंफाल पश्चिम, थौबल और काकचिंग जिलों से गिरफ्तार किया गया है। ऑपरेशन के दौरान मैगजीन के साथ 9 एमएम की दो पिस्तौल, 35 जिंदा राउंड और दो हथगोले बरामद किए गए। ये विद्रोही हाल ही में इंफाल पूर्वी जिले के काकचिंग शहर और एंड्रो गांव में गैर-मणिपुरी स्थानीय निवासियों की हत्या में भी शामिल थे।

प्रवक्ता ने कहा कि यह सफल संयुक्त अभियान मणिपुर में शांति सुनिश्चित करने की दिशा में एक बड़ा कदम होगा। पकड़े गए उग्रवादियों को बरामद हथियार और गोला-बारूद के साथ मणिपुर पुलिस को सौंप दिया गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रारंभिक जांच के बाद पता चला है कि चरमपंथी घाटी के जिलों में गैर-स्थानीय लोगों को निशाना बना रहे हैं।

 

आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.