comScore

शांभवी शुक्ला और श्वेता वर्मा-ज्योति यामिनी के कथक ने बांधा समां उस्ताद अलाउद्दीन खां समारोह का समापन!

शांभवी शुक्ला और श्वेता वर्मा-ज्योति यामिनी के कथक ने बांधा समां उस्ताद अलाउद्दीन खां समारोह का समापन!

डिजिटल डेस्क | सतना पद्म विभूषण बाबा अलाउद्दीन खां की स्मृति में मैहर में होने वाले ख्यातिलब्ध 46वें उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत समारोह की आखिरी संगीत संध्या में श्वेता शर्मा-ज्योति यामिनी लखनऊ के कथक युगल और शांभवी शुक्ला सागर के कथक समूह की प्रस्तुतियों ने समां बांधी। संगीत संध्या की शुरूआत मैहर वाद्य वृन्द से की गई। समारोह में प्रख्यात बांसुरी वादक राकेश चौरसिया के बांसुरी वादन ने दर्शकों को मंत्र-मुग्ध किया। मध्यप्रदेश शासन के संस्कृति विभाग, उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद के संयुक्त तत्वाधान में जिला प्रशासन एवं मैहर के समस्त नागरिकों के सहयोग से मैहर में आयोजित किए जा रहे तीन दिवसीय ख्यातिलब्ध 46वें उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत समारोह में इस बार देश-विदेश के प्रख्यात शास्त्रीय संगीत के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियां दी।

समारोह में स्थानीय उदीयमान शास्त्रीय संगीत के कलाकारों को भी प्रस्तुतियां देने का अवसर दिया गया। समारोह की तृतीय संध्या में सतना के उदीयमान कलाकार विनोद मिश्रा द्वारा गायन की दी गई आकर्षक प्रस्तुति ने श्रोताओं को मंत्र-मुग्ध किया। समारोह के शुभारंभ में मैहर वाद्य वृंद के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से श्रोताओं को मंत्र-मुग्ध किया। द्वितीय प्रस्तुति श्वेता वर्मा-ज्योति यामिनी के कथक युगल की रही। जिसमें उन्होने ‘‘शिव पंचाक्षर स्त्रोत’’ एवं ‘‘कन्हैया चलो आज खेले होली’’ की प्रस्तुतियों से संगीत रसिक श्रोताओं का मन मोह लिया। सागर की शांभवी शुक्ला ने ‘‘देवी स्तुति’’ से शुरूआत करते हुये कथक समूह के शास्त्रीय नृत्य से महफिल में समां बांधा। संगीत संध्या के अंत में मुम्बई के प्रसिद्ध बांसुरी वादक राकेश चौरसिया एवं अमन जैन एवं समूह मैहर के गायन समारोह ने भी दर्शकों को मंत्रमुग्ध बनाए रखा।

समारोह की तृतीय संध्या का आगाज मुख्य अतिथि प्रदेश के पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण (स्वतंत्र प्रभार), विमुक्त घुमक्कड़ एवं अर्द्ध घुमक्कड़ जनजाति कल्याण (स्वतंत्र प्रभार), पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री रामखेलावन पटेल ने बाबा अलाउद्दीन खान के चित्र के समक्ष माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन से किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सांसद गणेश सिंह ने की। इस मौके पर मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी, नगर पालिका अध्यक्ष धर्मेश घई, एसडीएम मैहर सुरेश अग्रवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एके अवधिया, आरके सिंह, केसी जैन, उपस्थित थे। संगीत समारोह को और भी भव्यता दी जायेगी- राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल बाबा उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत समारोह की समापन संध्या का शुभारंभ करते हुये प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री रामखेलावन पटेल ने कहा कि बाबा अलाउद्दीन खां के नाम को पूरी दुनिया में जाना जाता हैै।

मैहर और सतना जिले के लिये बाबा की कर्मस्थली मैहर अत्यंत गौरव की बात है। उन्होने कहा कि बाबा की बदौलत इस संगीत घराने के एक परिवार के सदस्यों को 9 पद्म विभूषण और भारत रत्न का सम्मान मिल चुका है। उन्होने कहा कि बाबा अलाउद्दीन खां को भी भारत रत्न सम्मान से अलंकृत करने के लिये राज्य शासन द्वारा प्रयास किये जायेंगे। राज्यमंत्री ने कहा कि मैहर के इस ख्यातिलब्ध समारोह को आने वाले समय में और भी भव्यता दी जायेगी। उन्होने कहा कि अलाउद्दीन खां एकेडमी को मैहर लाने और प्रदेश के सांस्कृतिक कैलेंडर में समारोह के आयोजन की तिथि निर्धारण का कार्य भी किया जायेगा। सांसद गणेश सिंह ने कहा कि पूरे देश और दुनिया में बाबा अलाउद्दीन खां समारोह की एक अलग पहचान है।

बाबा और उनके शिष्यों का पूरी दुनिया में नाम है। यह हमारी विरासत और गौरव का विषय भी है। उन्होने कहा कि खजुराहो महोत्सव की तरह अलाउद्दीन खां समारोह के आयोजन का भी कैलेंडर निर्धारित होना चाहिये। विधायक मैहर नारायण त्रिपाठी ने कहा कि मैहर में इस बार हो रहे उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत समारोह में कलाकारों की प्रस्तुतियों और आने वाले दर्शकों और श्रोताओं की संख्या दर्शाती है कि समारोह अपनी भव्यता की ओर अग्रसर है। उन्होने कहा कि बाबा के अनूठे मैहर बैंड को संरक्षण की आवश्यकता है। राज्य सरकार ऐसे आयोजनों के लिये बजट की कोई कमी नही होने देगी। समापन अवसर पर अलाउद्दीन खां एकेडमी के निदेशक राहुल रस्तोगी ने समारोह के सफल आयोजन के लिये सभी का आभार व्यक्त किया। इसके पूर्व पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री पटेल ने मदीना भवन जाकर बाबा अलाउद्दीन खां की मजार पर पुष्पांजलि अर्पित की।

कमेंट करें
U6zGQ