• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • The opposition surrounded the city government on Narmada purification, street light, cleaning and water logging

नगर निगम सदन बैठक में कांग्रेस और भाजपा के पार्षदों के बीच तीखी नोक-झोंक: विपक्ष ने नर्मदा शुद्धिकरण, स्ट्रीट लाइट, सफाई और जलप्लावन पर नगर सरकार को घेरा

September 21st, 2022

डिजिटल डेस्क जबलपुर। नगर निगम सदन की धारा 30 की विशेष बैठक में बुधवार को विपक्ष ने नर्मदा शुद्धिकरण, स्ट्रीट लाइट, सफाई, जलप्लावन, सड़क और शूकरों की समस्या पर नगर सरकार को जमकर घेरा। शूकरों की समस्या पर बहस के दौरान कांग्रेस और भाजपा के पार्षदों के बीच तीखी नोक-झोंक भी हो गई। महापौर ने कहा है कि जो कहा वो किया, जो कहूँगा वो करूँगा। लगभग 6 घंटे बहस के बाद बैठक को स्थगित कर दिया गया। बैठक गुरुवार सुबह 11 बजे से फिर शुरू होगी।
दलगत राजनीति से ऊपर उठकर किए जाएँगे विकास
धारा 30 की बैठक की शुरुआत करते हुए महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू ने कहा कि शहर में दलगत राजनीति से ऊपर उठकर विकास कार्य कराए जाएँगे। महापौर ने कहा कि मैं सदन को विश्वास दिलाता हूँ कि यदि कोई उन्हें आधी रात को भी बुलाएगा, तो वे हाजिर रहेंगे। उन्होंने कहा कि शहर के लिए 5 हजार स्ट्रीट लाइटें और ली जा रही हैं। इसके साथ ही स्ट्रीट लाइटों के सुधार के लिए 62 की जगह कर्मचारियों की संख्या को बढ़ाकर 150 किया जा रहा है।
नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में नजर आए कमलेश अग्रवाल
भाजपा ने अभी नेता प्रतिपक्ष की घोषणा नहीं की है, लेकिन बैठक के दौरान पार्षद कमलेश अग्रवाल नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में नजर आए। नगर सरकार पर उन्होंने तीखे हमले करते हुए कहा कि चुनाव परिणाम आए दो महीने बीत चुके हैं। महापौर ने अभी तक किसी भाजपा पार्षद से बात नहीं की है। निगमायुक्त द्वारा अधिकारियों और कर्मचारियों से बदतमीजी की जा रही है। पितृपक्ष के दौरान नर्मदा तटों पर गंदगी का अंबार लगा हुआ है। महापौर ने घोषणा की थी कि पहली फाइल नर्मदा में गंदे नाले रोकने वाली साइन की जाएगी, लेकिन अभी काम नहीं शुरू हो पाया है।
नर्मदा शुद्धिकरण पर 15 साल से हो रही राजनीति
निर्दलीय पार्षद रीना यादव ने कि नर्मदा शुद्धिकरण पर पिछले 15 साल से राजनीति हो रही है। पार्षद मुकीमा याकूब अंसारी ने कहा कि मुस्लिम क्षेत्र की सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे हैं। पार्षद वकील अंसारी ने कहा कि उनके वार्ड के 34 फीट के नाले को 8 फीट का कर दिया गया है। इसके कारण नाले का पानी घरों में भर रहा है।
स्ट्रीट लाइट बंद, सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे
भाजपा पार्षद महेश राजपूत, कविता रैकवार, सुनील पुरी गोस्वामी, रजनी कैलाश साहू, जीतू कटारे, माधुरी सोनकर सहित अन्य ने कहा कि शहर की स्ट्रीट लाइटें हर दो दिन में खराब हो रही हैं। शहर में सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे हो गए हैं। जगह-जगह गंदगी का अंबार लगा हुआ है।
कैसे होता है फ्लाईओवर का काम, पेश किए फोटोग्राफ
भाजपा पार्षद निशा संजय राठौर ने सदन में फोटोग्राफ प्रस्तुत कर बताया कि भोपाल में व्यवस्थित तरीके से फ्लाईओवर का निर्माण किया जा रहा है, वहीं जबलपुर में फ्लाईओवर के कारण सड़कों पर गड्ढे ही गड्ढे हो गए हैं। नागरिकों का पैदल चलना भी मुश्किल हो रहा है।
45 दिन में स्वीकृत किए 150 प्रस्ताव
नगर सरकार का बचाव करते हुए कांग्रेस पार्षद अयोध्या तिवारी ने कहा कि महापौर को पदभार सँभाले 45 दिन हुए हैं। इतने कम समय में 150 प्रस्ताव पारित किए जा चुके हैं। महापौर और एमआईसी पूरी ईमानदारी के साथ काम कर रही, इसलिए नगर सरकार को काम करने के लिए पर्याप्त समय दिया जाना चाहिए।
रांझी में स्वाइन फ्लू से मौत, शूकरों को पकडऩे की माँग
भाजपा पार्षद दामोदर सोनी ने कहा कि दो दिन पहले रांझी में स्वाइन फ्लू से एक प्रतिष्ठित नागरिक की मौत हो गई है। जल्द ही शूकरों को पकड़ा जाए। उन्होंने कहा कि महापौर कह रहे हैं कि नर्मदा में मिलने वाले गंदे नालों की संख्या 44 है, जबकि हकीकत में नालों की संख्या कम है। भाजपा पार्षद माधुरी सोनकर ने कहा कि उनके वार्ड में अभी तक 122 शूकरों की मौत हो चुकी है। कांग्रेस पार्षद संतोष दुबे ने भी कहा कि उनके वार्ड में बुधवार को ही चार शूकरों की मौत हुई है। इस पर महापौर ने कहा कि शूकरों की समस्या से निजात दिलाने के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया है। अगली एमआईसी की बैठक में प्रस्तुत कर स्वीकृति ली जाएगी।
सदन में हुई तीखी नोक-झोंक
शहर में शूकरों की समस्या पर बहस के दौरान भाजपा पार्षद कमलेश अग्रवाल ने चुटकी ली कि कांग्रेस पार्षद संतोष दुबे इसलिए दु:खी हैं कि उन्हें एमआईसी में पद नहीं मिल पाया। इस पर कांग्रेस पार्षद ने पलटवार करते हुए कहा कि कमलेश अग्रवाल को भी महापौर की टिकट नहीं मिल पाई थी।
पहली बैठक में गजब का अनुशासन
निगमाध्यक्ष रिकुंज विज ने कहा कि सदन की पहली बैठक में सभी पार्षदों ने पूरी शालीनता और अनुशासन के साथ अपनी बात रखी, जो तारीफ के काबिल है। पार्षदों के अनुशासन के कारण ही सदन का संचालन व्यवस्थित तरीके से हो पाया।
महापौर और निगमाध्यक्ष ने किया साष्टांग प्रणाम
पहली बैठक के लिए सदन में प्रवेश करने के पहले महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू ने सदन में साष्टांग प्रणाम किया। इसी तरह निगमाध्यक्ष रिकुंज विज ने सदन को साष्टांग प्रणाम कर सदन में प्रवेश किया।
निगमायुक्त छुट्टी पर, अपर आयुक्त ने सँभाला सदन
निगमायुक्त आशीष वशिष्ठ 30 सितंबर तक के लिए छुट्टी पर चले गए हैं। उनकी जगह अपर आयुक्त महेश कुमार कोरी ने सदन का कामकाज सँभाला।
बैठक में सबसे पहले दी गई श्रद्धांजलि
बैठक में सबसे पहले शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती, भारत रत्न लता मंगेशकर, स्वामी श्याम देवाचार्य, दिवंगत पूर्व पार्षदों के साथ ही न्यू लाइफ मल्टी स्पेशिएलिटी अस्पताल में हुए अग्नि हादसे के मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई। बैठक की शुरुआत में सभी पार्षदों ने अपना-अपना परिचय दिया।