रिपोर्ट : एप्पल ने नेटफ्लिक्स टैक्स को लेकर शिकागो शहर के साथ मुकदमा निपटाया

July 26th, 2022

हाईलाइट

  • एप्पल ने नेटफ्लिक्स टैक्स को लेकर शिकागो शहर के साथ मुकदमा निपटाया

डिजिटल डेस्क, सैन फ्रांसिस्को। एप्पल ने तथाकथित नेटफ्लिक्स टैक्स को लेकर अमेरिका के शिकागो शहर के साथ एक मुकदमे का निपटारा किया है, जो स्ट्रीमिंग सेवाओं को लक्षित करते हुए इलेक्ट्रॉनिक रूप से वितरित किए जाने वाले एम्यूजमेंट पर 9 प्रतिशत लेवी (वसूली) लगाता है। शिकागो ने 2015 में नेटफ्लिक्स टैक्स की शुरुआत की, जिसमें मनोरंजन गतिविधियों और संगीत कार्यक्रमों के लिए टिकटों पर शहर के टैक्स को डिजिटल मनोरंजन प्लेटफॉर्म तक बढ़ा दिया गया।

हॉलीवुड रिपोर्टर की रिपोर्ट के अनुसार, इसे विशेष रूप से डिज्नी प्लस, स्पोटिफाई और अमेजन प्राइम वीडिया को लक्षित करने वाला पहला टैक्स माना जाता है। आगे कहा गया, एप्पल और शिकागो स्ट्रीमिंग सेवाओं के यूजर्स पर शहर के पहले तरह के टैक्स को चुनौती देने वाले तकनीकी दिग्गज के मुकदमे को छोड़ने के लिए एक समझौते पर आए हैं।

निपटान की शर्तों का खुलासा नहीं किया गया है। शिकागो ने 30 जून, 2021 को समाप्त हुए वर्ष में नेटफ्लिक्स टैक्स से 30 मिलियन डॉलर से अधिक का राजस्व एकत्र किया। एप्पल ने पहली बार 2018 में टैक्स को चुनौती दी थी।

अन्य स्ट्रीमिंग दिग्गजों ने टैक्स के खिलाफ कानूनी चुनौतियों का सामना किया, जिसमें सोनी इंटरएक्टिव एंटरटेनमेंट, एंटरटेनमेंट सॉफ्टवेयर एसोसिएशन (ईएसए) और नेटफ्लिक्स, हुलु और स्पॉटिफ का प्रतिनिधित्व करने वाला एक वकालत समूह शामिल था।

एक अपील अदालत ने वकालत समूह के तर्को को खारिज करते हुए इंटरनेट टैक्स फ्रीडम एक्ट का कोई उल्लंघन नहीं पाया। सोनी ने भी बाद में अपना मुकदमा छोड़ दिया।

सोर्सः आईएएनएस

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.