दैनिक भास्कर हिंदी: VIDEO: वो जगहें जहां गाड़ी ले जाने से पहले कई दफा सोंचे

August 24th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंडिया का ऑटोमोबाइल मार्केट, इंटरनेशनल मार्केट से बिल्कुल उलट है। जहां विदेशों में कार में फोर व्हील ड्राइव होना आम है वहीं इंडिया में कार और SUV के टॉप वेरिएंट में ही फोर व्हील ड्राइव का ऑप्शन मिलता है। और यही कारण है कि इंडिया में फोर व्हील ड्राइव वेरिएंट ज्यादा पॉपुलर हैं। कीमतें कम रखने के लिए इंडिया में अधिकांश गाड़ियों में ऐसा होता है। यहां तक की कई SUV ऐसी हैं जिनमें में फोर व्हील ड्राइव ऑफर नहीं किया जाता। आप भी यदि टू व्हील ड्राइव कार इस्तेमाल करते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि आपकी कार किन जगहों पर फंस सकती है। तो आज हम आपको ऐसे वीडियो दिखाने जा रहे हैं जो दिखाते हैं कि आपको कहां सतर्क रहना जरूरी है।

 

नदी, समुद्र और तालाबों के किनारे

आम तौर पर ऐसी जगहों पर रेत की वजह गाड़ियां फंस जाती हैं। ऐसी जगहों पर तो कई बार फोर व्हील ड्राइव गाड़ियों को भी ग्रिप नहीं मिलती। और यदि आप टू व्हील ड्राइव कार लेकर ऐसी जगह पहुंचे हैं तो फंसना लाजमी है। ऐसी जगहों पर तो बचाने वाली गाड़ियां भी फंस जाती हैं। बेहतर होगा कि आप पहले अच्छे से जांच परख लें कि वहां की सतह पूरी तरह से सख्त है या नहीं। यदि नहीं है तो गाड़ी को ऐसी जगह ले जाना सेफ नहीं होगा।


कीचड़

आपने कभी न कभी मड रेस तो देखी ही होगी। नहीं देखी? कोई बात नहीं जब भी मौका मिले जरूर देखें। लेकिन मड रेस के लिए फोर व्हील ड्राइव गाड़ी होना जरुरी है। क्योंकि टू व्हील ड्राइव गाड़ियां फिसलन ज्यादा होने से अपनी ग्रिप खो देती हैं और बेकाबू हो जाती हैं। फोर व्हील ड्राइव कार में यदि एक पहिया ग्रिप खो भी दे तो बाकी पहिए गाड़ी को ग्रिप देते हैं। कई 4WD गाड़ियों में डिफेरेंशियल लॉक होता है। जो ये सुनिश्चित करता है कि एक पहिए के ग्रिप खोने पर बाकी 3 पहिए घूमते रहें।

 

बर्फ

बर्फ पड़ने के तुरंत के बाद ड्राइव करना उतना मुश्किल नहीं होता, टू व्हील ड्राइव कार भी आसानी से अपनी मंजिल तक पहुंच सकती है। लेकिन दिक्कत आती है पुरानी वर्फ पर, ज्यादा सख्त होने से बर्फ पर फिसलने का डर होता है। फोर व्हील ड्राइव गाड़ियां किसी तरह यहां संतुलन बनाए रखती हैं लेकिन टू व्हील ड्राइव कार यहां अपना संतुलन खो देती हैं।

 

दलदल
नदी और झीलों किनारे के देखकर उन्हें पार करना आसान लगता है, पर जो दिखता है वैसा होता नहीं । आपकी कार के पहिए किसी भी वक्त वहां फंस सकते हैं। फोर व्हील ड्राइव गाड़ियों की ग्रिप अच्छी होती है। इंजन का पावर दोनों एक्सल में बंट जाता है, जिससे गाड़ी आसानी से बाहर निकल आती है, लेकिन टू व्हील ड्राइव गाड़ियां ऐसी जगह फंस जाती हैं।