comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

Movie Review: हर एंगल से बेहतर है पीएम नरेंद्र मोदी, एक मोटिवेशनल स्टोरी का काम करेगी फिल्म

Movie Review: हर एंगल से बेहतर है पीएम नरेंद्र मोदी, एक मोटिवेशनल स्टोरी का काम करेगी फिल्म

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। बॉलीवुड में इस समय बायोपिक फिल्मों का ट्रेंड चल रहा है। लोग इन बायोपिक को पसंद कर रहे हैं। बायोपिक की खास बात यह है कि यह किसी इंसान पर आधारित होती है और निर्देशक उसके अच्छे या बुरे पहलू को दिखाने की कोशिश करते हैं। निर्देशक और निर्माता की कढ़ी मेहनत के बाद आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोपिक रिलीज हो चुकी है। फिल्म में विवेक आनंद ओबेरॉय, मनोज जोशी, प्रशांत नारायणन, जरीना वहाब, सुरेश ओबेरॉय, अंजन श्रीवास्तव, यतिन करयेकर, दर्शन कुमार और राजेंद्र गुप्ता मुख्य भूमिका में हैं। फिल्म का निर्देशन उमंग कुमार ने किया है। संदीप सिंह ने इसे प्रोड्यूस किया है। 

फिल्म की कहानी एक एक शख्स की पर आधारित है, जो अपना बचपन गरीबी में बिताता है। अपने जवानी के दिनों में वह मां का आर्शीवाद लेकर सन्यासी बन जाता है। अपने गुरु के कहने पर बस्ती में लौटा और अपनी ही पार्टी की अंदरूनी सियासत से जूझकर जननायक बना। अपने बालपन में नरेंद्र मोदी चीन सीमा पर जाते फौजियो को चाय मुफ्त पिलाता है, यही कहानी का पहला आधार है। फिर वह अपने गुरु को चाकू देते समय इसका दस्ता आगे करता है, तो यह जनहित की दूसरी धुरी बनती है। 

 एक बार जब गुजरात में सूखा पड़ जाता है, तब नरेंद्र मोदी खुदाई का जिम्मा लेकर बताता कि वोट के पीछे मत भागो, काम करो, वोट खुद चलकर आएगा। वह गुजरात के पहले किंगमेकर है, जिसकी शोहरत ने गांधीनगर ने दिल्ली तक में हलचल मचा दी। वहीं निर्देशक उमंग कुमार पहले ही मैरी कॉम और सरबजीत जैसी फिल्मों बनाकर अपना फैनबैस बना चुके थे। पीएम नरेंद्र मोदी उसी का एडवांस वर्जन है। वह सिनेमा बनाते है, डॉक्यूमेंट्री नहीं। 

 निर्देशक ने दर्शन कुमार को एक उत्प्रेरक की तरह इस्तेमाल किया है, जो मोदी को खत्म करने की साजिश रचने वालों का मोहरा है। फिल्म में रिश्तों पर ज्यादा फोकस किया गया है। शाह और मोदी की दोस्ती को जय वीरु की दोस्ती की तरह दिखाया है। फिल्म में बताया गया है कि बच्चों को विवेकानंद का साहित्य पढ़ने की सीख देने वाले माता-पिता को तब क्या करना चाहिए, जब उनका अपना बच्चा विवेकानंद जैसा बनने की ठान ले।

फिल्म में मां सबसे मजबूत धुरी है। वह हर उस पल में फिल्म में पीएम नरेंद्र मोदी को नया मोड़ देती हैं, जब मोदी के मन में विचारों का तूफान उमड़ रहा होता है। फिल्म में विवेक ओबेरॉय को नरेंद्र मोदी के किरदार में स्वीकार करने में थोड़ा वक्त लगता है। उसके बाद वे पर्दे पर नरेंद्र मोदी के तिलिस्म को जीवंत कर देते हैं। विवेक इस किरदार को बखूबी निभाने में कामयाब रहे। उनकी अदाकारी तालियों की हकदार है। मां के रूप में जरीना वहाब, शाह के रूप में मनोज जोशी और टीवी पत्रकार के रूप में दर्शन कुमार ने दमदार काम किया है और फिल्म को मजबूत बनाया है। 

टेक्नीकली इस फिल्म में कोई कमी नहीं छोड़ी गई है। सुनिता राडिया ने इस बायोपिक में कैमरा घुमाते समय कुछ भी छूटने नहीं दिया। फिल्म की पटकथा और संवाद में हर्ष लिम्बाचिया और अनिरुद्ध चावला के साथ खुद विवेक ओबेरॉय ने भी योगदान दिया है। फिल्म में गाने ज्यादा नहीं हैं, लेकिन जहां भी हैं, वह फिल्म को क्लाइमेक्स की तरफ ले जाने में मदद करते हैं।

जो भी पीएम नरेंद्र मोदी को पसंद करता है, बेशक उसे यह फिल्म पसंद आएगी। फिल्म की कहानी काफी प्रेरणादायक है, जो दिखाता है कि मोदी जी किस तरह समर्पण और विश्वास के साथ 18 घंटे काम करते हैं। यह फिल्म सिर्फ बीजेपी समर्थकों और मोदी लवर्स के लिए हीं नहीं बल्कि हर उस आम इंसान के लिए देखना जरुरी है, जो अपनी जिंदगी में कुछ बेहतर करना चाहता है। यह फिल्म उसके लिए एक मोटिवेशन का काम करेगी। 

कमेंट करें
uJ4DL
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।