comScore

10 वीं बोर्ड : स्टूडेंट्स के सामने खुलेगा प्रश्नपत्र का लिफाफा

10 वीं बोर्ड : स्टूडेंट्स के सामने खुलेगा प्रश्नपत्र का लिफाफा

डिजिटल डेस्क, नागपुर । राज्य माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं बोर्ड परीक्षा में पेपर लीक के मामले रोकने के लिए नया तरीका अपनाया है। बोर्ड ने तय किया है कि इस वर्ष से प्रश्नपत्र का लिफाफा परीक्षा कक्ष में विद्यार्थियों के सामने ही खोला जाएगा।  एक लिफाफे में कुल 25 प्रश्नपत्र होंगे। अब तक 10वीं बोर्ड में परीक्षा कंडक्टरों के कक्ष में यह लिफाफा खुलता था। इसके बाद परीक्षा कक्षों में प्रश्नपत्रों का वितरण होता था। लिफाफा खुलने से लेकर विद्यार्थियों तक पहुंचने के कुछ मिनटों के बीच ही प्रश्न वॉट्सएप पर वायरल हो जाया करते थे। इसे रोकने के लिए इस वर्ष बोर्ड यह बदलाव करने जा रहा है। उल्लेखनीय है कि दो वर्ष पूर्व 12वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए भी इसी प्रकार की व्यवस्था अपनाई गई थी। इसे अब 10वीं में भी लागू किया जा रहा है। 

परिणाम सुधरने की उम्मीद
इस वर्ष बोर्ड परीक्षा में 80-20 स्कोरिंग पैटर्न अपनाया गया है। यानी 80 अंक थ्योरी के और 20 अंक इंटरनल के। कुल 100 अंकों के इस पेपर में पास होने के लिए 35 अंक जरूरी होते हैं। लिहाजा इंटरनल अंकों की मदद से विद्यार्थी इस वर्ष बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। इस वर्ष नागपुर विभाग से बोर्ड परीक्षा में कुल 1 लाख 87 हजार 797 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है। परीक्षा के कुल 692 केंद्र बनाए गए हैं। सर्वाधिक विद्यार्थी संख्या नागपुर जिले में हैं। यहां  68 हजार 607 विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया है और परीक्षा के 230 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। 

कमेंट करें
QKpRs