दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर में अब तक 13 कोरोना पॉजिटिव मिले -368 लोग हाई रिस्क में ,  रेड जोन में नहीं शहर

April 16th, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर । गोलबाजार से सराफा क्षेत्र का 3 किमी क्षेत्र के कंटेनमेंट एरिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है। इस क्षेत्र में अब तक 8 कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। सराफा क्षेत्र में रहने वाले 70 साल के सुरेंद्र सोनी दो दिन पहले संक्रमित पाए गए थे, उसके बाद उनका 10 साल का पोता और बुधवार को एक पड़ोसी संक्रमित पाए जाने से इस घनी आबादी वाले इलाके में और मरीज मिलने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। प्रशासन ने इस पूरे क्षेत्र में सख्ती बढ़ा दी है। कलेक्टर ने कहा कि यहाँ इंदौर के बंदी को मिला कर 13 पॉजिटिव केस आए हैं लेकिन जबलपुर अभी रेड जोन में नहीं आया है। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के पालन में जनता की थोड़ी सी लापरवाही शहर को बड़ी परेशानी में डाल सकता है।
सोनी से संक्रमित होने की आशंका 7 नए संक्रमित सराफा दरहाई निवासी 50 वर्षीय सुशील राठौर पूर्व संक्रमित बुजुर्ग सुरेंद्र सोनी के पड़ोसी हैं। क्षेत्र में चर्चा है कि सुशील उनके दामाद के रिश्तेदार हैं। ये तीनों परिवार पास-पास ही रहते हैं। अब यह माना जा रहा है कि सुशील को सोनी के घर से ही संक्रमण मिला, वहीं यह भी चर्चा है कि उसका बुजुर्ग सुरेंद्र के बेटे आकाश से बढिय़ा मेलजोल था। कलेक्टर भरत यादव का कहना है कि सुरेंद्र के बेटे की गतिविधियाँ सही नहीं थीं, वह ताश खेलता था, लोग आते थे तो लॉकडाउन के नियमों का पालन भी नहीं हुआ। अब उसके संपर्क और घर में आकर ताश खेलने वाले सभी लोगों की जानकारी लेकर उन्हें इंस्टीट्यूटनल आइसोलेशन किया जाएगा। पुलिस के सहयोग से सुशील के परिवार सहित कुल 18 लोगों को जो उनके निकट संबंधी थे, को विक्टोिरया अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में ले जाया गया है। कोरोना संक्रमित सुशील को मेडिकल के आइसोलशन वार्ड में भर्ती किया गया है।
सराफा क्षेत्र में 368 लोग हाई रिस्क में
 कलेक्टर भरत यादव ने बताया कि सराफा क्षेत्र में बनाए गए कंटेेनमेंट एरिया में ही ज्यादा पॉजिटिव आने से पूरे क्षेत्र में घर-घर लोगों के स्वास्थ्य का सर्वे किया जा रहा है। अब तक 82 हजार लोगों की जाँच में 368 को हाई रिस्क में रखा गया है। अब तक 434 सैंपल भेजे गए हैं जिनमें 13 पॉजिटिव मिले हैं। उन्होंने कहा कि सैंपलिंग के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग, लॉकडाउन के नियमों का पालन कराने अब सख्ती बढ़ाई जाएगी। उनका कहना था कि शहर अभी रेड जोन में नहीं है लोग नियमों का पालन करें तो इसे कैटेगरी में आने से बचाया जा सकता है।
 

खबरें और भी हैं...