comScore

 स्क्रीनिंग के बाद पुलिस की निगरानी में रीवा भेजे गए इंदौर से आए 15 यात्री 

 स्क्रीनिंग के बाद पुलिस की निगरानी में रीवा भेजे गए इंदौर से आए 15 यात्री 

डिजिटल डेस्कसतना। कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका के बीच यहां हॉट-स्पॉट इंदौर का नाम आते ही सुनने वालों के कान खड़े हो जाते हैं। मंगलवार की दोपहर यहां ऐसे ही हालात उस वक्त बने जब इंदौर से यहां पहुंचे 15 यात्रियों को लेकर सिविल लाइन पुलिस की एक पार्टी मेडिकल चेकअप के लिए जिला अस्पताल पहुंची। इन सभी संदेहियों की एक घंटे की स्क्रीनिंग के बाद डा.देवेश गौतम ने बताया कि किसी में भी कोरोना के संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण नहीं मिले। डा. गौतम ने बताया कि बावजूद इसके इन सभी को 14 दिन तक होम क्वारेंटाइन पर रहने, लॉकडाउन का पालन करने और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने की सलाह दी गई है। 
बाहर से आए परिवार को यंू मिला सुरक्षा घेरा :------ 
सिटी कोतवाल संतोष तिवारी ने बताया कि स्क्रीनिंग के बाद इंदौर से आई  फोरव्हीलर नंबर एमपी 09-एफए 7601 को कोलगवां पुलिस के सुपुर्द किया गया।  कोलगवां पुलिस की निगरानी में सभी यात्री गंतव्य के लिए सुरक्षित रवाना किए गए। बाद में थाने की सीमा पर इन्हें रामपुरबघेलान पुलिस ने कवरिंग दी और बेला बार्डर से रीवा की चोरहटा पुलिस की सुरक्षा प्रदान की गई। इससे पहले पन्ना पुलिस की निगरानी में इंदौर से आई यही गाड़ी नागौद पुलिस से  कोतवाली पुलिस के हैंडओवर की गई। जिला अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि सभी 15 यात्रियों का इंदौर में पहले ही चिकित्सकीय परीक्षण हो चुका था। पुलिस के मुताबिक  गाड़ी संख्या एमपी 09-एफए 7601 के पास इंदौर प्रशासन की रीवा के लिए परमीशन भी थी। 
 सांस में तकलीफ पर सेंपलिंग :--------
जिला अस्पताल के सिविल सर्जन ने बताया कि तकरीबन 3 दिन से जिला अस्पताल में मौसमी बीमारी से पीडि़त देवेन्द्रनगर के एक युवक की स्क्रीनिंग कराते हुए एहतियाती तौर पर उसके थ्रोट स्वाब का सेंपल जांच के लिए आईसीएमआर लैब जबलपुर भेजा जा रहा है। पीडि़त को सांस में  तकलीफ के कारण आईसीयू स इन्फेशियस डिसीज कंट्रोल वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। उल्लेखनीय है, इससे पहले भेजे 4 संदेहियों के नमूनों की रिपोर्ट का इंतजार है। 

कमेंट करें
vR5eM