comScore

जेल गए तो 28 दिन का क्वारंटीन - कोरोना संक्रमण रोकने बढ़ाई सावधानी 

जेल गए तो 28 दिन का क्वारंटीन - कोरोना संक्रमण रोकने बढ़ाई सावधानी 

डिजिटल डेस्क जबलपुर। अगर लोग किसी भी अपराध मेें जेल गए तो अब पूरे 28 दिन क्वारंटीन रहना पड़ेगा। यह व्यवस्था कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए की गई है। जेल में जो भी नया कैदी पहुँच रहा है उसे तुरन्त ही 80 कमरों वाले क्वारंटीन सेंटर में भिजवा दिया जाता है। पहले 14 दिन के लिए बंदियों को अलग रखा जाता था, लेकिन अब उनके लिए पूरे 28 दिन अलग रहने के लिए निर्धारित कर दिये गए हैं। ऐसा इसलिए किया गया  है कि कई बार कोरोना के लक्षण देर से दिखाई देते हैं और उसके कारण संक्रमण अन्य लोगों तक नहीं पहुँचे, इसलिए सावधानी के लिए कैदियों को क्वारंटीन करने के लिए अवधि बढ़ाई गई है। 
जबलपुर सेन्ट्रल जेल में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पहले से ही सावधानी बरती गई, जिसके कारण ही बाहर से आने वाले कैदी की जाँच के बाद ही उसे जेल में प्रवेश दिया गया। इसी के चलते इंदौर से जबलपुर जेल भेजे गए एक कैदी की पहले जब जाँच कराई गई तो वह कोरोना पॉजिटिव निकला। उसके बाद से और सतर्कता बढ़ा दी गई, जिसके कारण जेल में एक भी कोरोना पॉजिटिव बंदी नहीं पहुँच सका। 
मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग  
जेल में कैदियों ने खुद ही मास्क बनाना प्रारंभ कर दिया और न केवल जेल बल्कि मेडिकल अस्पताल, विक्टोरिया एवं एल्गिन अस्पताल के अलावा निजी अस्पतालों को भी मास्क बनाकर दिये। उनके द्वारा बनाये गए मास्क आयुध निर्माणियों को भी भेजे गए हैं। मास्क के अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना भी जरूरी कर दिया है। इसके कारण कैदियों से अब एक मीटर दूर रहकर कार्य कराया जा रहा है। 
सावधानी बढ़ाई 
जेल में आने वाले बंदियों की मेडिकल जाँच के अलावा उनको सेनिटाइज करने के बाद ही जेल में प्रवेश दिया जा रहा है। इसके अलावा अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है, ताकि बंदियों को कोरोना से बचाया जा सके।
- गोपाल ताम्रकार, जेल अधीक्षक 
 

कमेंट करें
lsTpL