comScore

 कानन पेंडारी से मुकुंदपुर लाए गए 4 हॉग डियर अब 14 प्रजाति के 94 वन्य प्राणी 

 कानन पेंडारी से मुकुंदपुर लाए गए 4 हॉग डियर अब 14 प्रजाति के 94 वन्य प्राणी 

 डिजिटल डेस्क सतना। बिलासपुर के कानन पेंडारी चिडिय़ाघर से 12 घंटे का सफर तय कर  4 हॉग डियर सोमवार की देर रात मुकुंदपुर स्थित लाए गए।  मंगलवार को विश्व वन्य प्राणी दिवस के कुछ घंटे पहले इन चारों वन्य प्राणियों के आने से मुकुंदपुर जू प्रबंधन काफी उत्साहित है। यहां देर रात एक मेल और 3 फीमेल हॉग डियर पहुंचे हैं। इनके आने के बाद मुकुंदपुर चिडिय़ाघर में न सिर्फ वन्य प्राणियों की संख्या बढ़ गई है, बल्कि वन्य प्राणियों के प्रजाति में भी वृद्धि हुई है। अभी तक यहां 13 प्रजातियों के 90 वन्य प्राणी थे। लेकिन 4 हॉग डियर के आ जाने से वन्य प्राणियों की प्रजाति बढ़कर जहां 14 हो गई है,वहीं इनकी संख्या भी 94 तक पहुंच गई है।   हॉग डियर को लाने के लिए वाहनों की मदद मंडला के कान्हा टाइगर से ली गई थी।  
हर दो घंटे में  आराम 
कानन पेंडारी से मुकुंदपुर चिडिय़ाघर तक लाने में हॉग डियर को हर 2 घंटे में आराम दिया गया। सोमवार की दोपहर 12 बजे दल हॉग डियर को लेकर मुकुंदपुर चिडिय़ाघर के लिए रवाना हुआ। सड़क मार्ग की दूरी 380 किलोमीटर है, जो समान्य रूप से 9 से साढ़े 9 घंटे में तय होती है। लेकिन हॉग डियर को हर दो घंटे में आराम के साथ भोजन और पानी दिये जाने से यह दूरी 12 घंटे में तय की गई। रात 12 बजे के आसपास 5 सदस्यीय  दल हॉग डियर को लेकर मुकुंदपुर पहुंचा। 
अभी कानन से भी लाएंगे 
कानन से हॉग डियर को लाने के साथ लखनऊ चिडिय़ाघर जाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। बताया गया है कि मुकुंदपुर जू का दल एक सप्ताह में लखनऊ के चिडिय़ाघर के लिए रवाना होगा। लखनऊ से एक मेल और 4 फीमेल बारासिंगा लाया जाना है। 

कमेंट करें
C7lQ4