मुंबई महापौर का दावा : कोरोना संक्रमण से 94 फीसदी ऐसे लोगों की गई जान जिन्होंने नहीं करवाया था वैक्सीनेशन

January 12th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। कोरोना संक्रमण के चलते पिछले साल फरवरी से अब तक 94 फीसदी ऐसे लोगों की जान गई है जिन्होंने बचाव के टीके नहीं लगवाए थे। मुंबई की महापौर किशोरी पेडणेकर ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने कोरोना संक्रमण से बचाव के टीके लिए हैं उनमें से ज्यादातर में संक्रमण के बेहद सौम्य लक्षण हैं इससे साफ है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के टीके कारगर हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे कोरोना संक्रमण से बचाव के टीके जरुर लगवाएं।वहीं कुछ दिनों की गिरावट के बाद बुधवार को मुंबई में कोरोना संक्रमण के मामलों में फिर बढ़ोत्तरी देखी गई। बुधवार शाम तक मुंबई में कोरोना संक्रमण के 16 हजार 420 नए मामले सामने आएं जबकि मंगलवार को संक्रमण 11 हजार 647 मामले ही सामने आए थे। मंगलवार को मामलों में कमी के बाद मुंबई महानगर पालिका ने दावा किया है कि महानगर में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है। महानगर में सात जनवरी को कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा 20 हजार 971 मामले सामने आए थे। इसके बाद मामलों में लगातार गिरावट देखी जा रही थी लेकिन बुधवार को एक बाद फिर बीते दिन के मुकाबले 4773 ज्यादा नए मामले सामने आएं हैं। इसके बाद आशंका है कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर अभी थमी नहीं है। शुक्रवार को रिकॉर्ड मामलों के बाद शनिवार को महानगर में 20318, रविवार को 19474 और सोमवार को 13648 नए मामले सामने आए थे। तीसरी लहर के दौरान महानगर में संक्रमण बेहद तेजी से फैला हैं क्योंकि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान चार अप्रैल 2021 को मुंबई में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा 11163 मामले सामने आए थे जबकि तीसरी लहर में लगातार तीन दिनों तक महानगर में 20 हजार से ज्यादा संक्रमण के नए मामले सामने आए थे। मुंबई महानगर पालिका आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने भी लोगों से अपील की है कि मास्क पहले और कोरोना संक्रमण से जुड़े दूसरे दिशानिर्देशों का पालन करें।