3 शिकारी गिरफ्तार, मौके पर पहुँचा वन विभाग का अमला: करंट लगाकर बाघ का शिकार कर तालाब में फेंका शव

November 1st, 2021

डिजिटल डेस्क सतना।  वन मंडल के सिंहपुर रेंज की अमदरी बीट में करंट लगाकर बाघ के शिकार की खबर से सनसनी फैल गई। मृत बाघ का शव जंगल की जमीन पर बने तालाब में उतराता मिलने से इस घटना का खुलासा हुआ, जिसके बाद वन अमले ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेने के साथ ही प्रारंभिक जांच में मिले साक्ष्यों के आधार पर 3 संदेहियों को हिरासत में लिया है। बाघ के शरीर से खाल गायब थी।
सीसीएफ रीवा एके सिंह ने बताया कि लगभग 4 माह पूर्व पन्ना टाइगर रिजर्व के अकोला बफर जोन से सतना वन मंडल की तरफ निकले टाइगर पन्ना की लोकेशन 13 अक्टूबर के बाद से नहीं मिल रही थी। आखिरी बार उसकी मौजूदगी अमदरी बीट में पाई गई थी। इसके बाद से कॉलर आईडी का संपर्क टूट गया था, तभी से उसकी खोज चल रही थी। इसी दौरान 31 अक्टूबर की रात को कुछ दूर के लिए कॉलर आईडी से लिंक जुड़ी तो डीएफओ विपिन पटेल और उप वनमंडलाधिकारी डॉ. लाल सुधाकर सिंह को तुरंत मौके पर भेजा। जिन्होंने पूरे दलबल के साथ इलाके में सर्चिंग शुरू की और पूरी रात खोजने के बाद सोमवार की सुबह तालाब में टाइगर का शव बरामद कर लिया, मगर शरीर से खाल गायब थी। जबकि नाखून और दांत सही सलामत थे। इस तालाब के बगल में ही जंगल की जमीन पर कब्जा कर कुछ लोग खेती कर रहे हैं, जहां जीआई तार के जरिए करंट फैलाया गया था। आशंका है कि इसी तार के करंट में फंसने से टाइगर की मौत हो गई। संदेह के आधार पर रामप्रकाश बागरी, कृष्णा कोल और मुन्ना को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुख्ता प्रमाण मिलने पर वन्य संरक्षण अधिनियम के तहत आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...