यातायात: नागपुर जिले में फिर 31 ब्लैक स्पॉट बन सकते हैं जानलेवा

January 21st, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गुरुवार को जिलाधिकारी कार्यालय के बचत भवन में संसद सदस्य रस्ता सुरक्षा समिति की बैठक हुई, जिसमें केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े थे। बैठक में शहर के यातायात विभाग के अधिकारियों से लेकर जिलाधिकारी की मौजूदगी थी। बैठक में जहां एक ओर  गडकरी की ओर से अधिकारियों को ब्लैक स्पॉट पर जल्द से जल्द उपाययोजना करने निर्देश दिए गए, वहीं दूसरी ओर ग्रामीण क्षेत्र में 31 नए ब्लैक स्पॉट जुड़ गए हैं, जिससे हादसे की आशंका और भी बढ़ गई है। 
 

अभी तक 118 ब्लैक स्पॉट 
 

जिले में अभी तक 118 ब्लैक स्पॉट की पहचान की गई थी। यह ऐसे स्पॉट है, जहां किसी न किसी कारणवश दुर्घटनाएं होती रहती हैं, वहीं इससे कइयों की जान भी गई है। लेकिन समय पर विभिन्न विभाग की मदद से व सेट्रल रोड रिसर्च इन्स्टीट्यूट नई दिल्ली व आईआईआईटी हैदराबाद संस्था के संयुक्त तत्वावधान में चलाये जा रहे  रास्ते प्रोजेक्ट के कारण 38 ब्लैक स्पॉट पर उपाययोजना की है। लेकिन अभी भी शहर में 70 ब्लैक स्पॉट मौजूद है, जिन पर जल्दी उपाययोजना करना जरूरी है। इस समय ग्रामीण की ओर से 31 नये ब्लैक स्पॉट के बारे में प्रशासन को जानकारी दी है। बैठक में श्री गडकरी ने रास्ते प्रोजेक्ट के माध्यम से जल्द से जल्द इन पर उपायोजना करने के आदेश दिये हैं। इस अवसर समिति के संसद सदस्य चंद्रशेखर मोहिते की ओर से दुर्घटना कम करने के लिए 61 मुद्दे सामने रखे हैं।  बैठक में राज्यसभा सदस्य विकास माहात्मे, जिलाधिकारी विमला आर., पुलिस उपायुक्त अमितेश कुमार, ज्वाइंट सीपी अस्वती दोरेजे, ट्रैफिक उपायुक्त सारंग आव्हाड, डीवाय एसपी होम संजय पुरंदरे, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी रवींद्र भुयार आदि उपस्थित थे।