दैनिक भास्कर हिंदी: अब आंबेकर पर अकोला के व्यापारी ने दर्ज कराया धोखाधड़ी का मामला

November 8th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। संतोष आंबेकर व उसके साथियों के खिलाफ अब अकोला के व्यापारी की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है। आंबेकर और उसके साथियों पर लगातार  आपराधिक मामले दर्ज हो रहे हैं। लकड़गंज थाने में मामला दर्ज किया गया है। आरोपी आंबेकर और उसकी गैंग ने अकोला के एक व्यापारी के साथ 27.38 लाख की ठगी की है। आरोपियों ने व्यापारी को बंधक बनाकर उससे नकदी 29 हजार रुपए और मोाबाइल फोन छीन लिया था।

आरोपी संतोष आंबेकर (50), दारोडकर चौक, इतवारी, गुड्डू उर्फ सुदीप साहू (40), निवासी अकोला, विपुल भाई (35), मुंबई, महेश उर्फ शरद शाहू (59), अकोला, कृष्णा (35), अकोला, सफेद बालवाला टैक्सी ड्राइवर व अन्य पांंच-छह आरोपी व्यापारी को बार-बार धमकी दे रहे थे, जिसके चलते उसने फिनाइल पीकर आत्महत्या का प्रयास किया था। व्यापारी का आरोप है कि, आरोपी संतोष आंबेकर ने जब उसे पैसे देने के बहाने बुलाया, तब उसे बंदूक दिखाकर गोली मारने की धमकी दी थी। उसके बाद अकोला के इस व्यापारी की जमकर पिटाई की गई थी। आरोपियों की पिटाई से व्यापारी इतना डर गया था कि, उसने अकोला जाने के बाद आत्महत्या का प्रयास किया था। इधर संतोष आंबेकर के खिलाफ लकड़गंज थाने में दुष्कर्म का मामला भी दर्ज है। इस मामले में उसे अपराध शाखा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आंबेकर को को गुरुवार को न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। न्यायालय ने उसे चार दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है।

नकदी ली पर सोना नहीं दिया
पुलिस के अनुसार आरोपी संतोष आंबेकर ने साजिश रचकर अकोला के एक व्यापारी को कम दाम में सोना देने का लालच दिया। आंबेकर और उसकी गैंग के उक्त सदस्यों ने इस व्यापारी को सोना देने के नाम पर उससे 27 लाख रुपए नकद लिया, लेकिन व्यापारी को आरोपियों ने सोना नहीं दिया। जब वह पैसे वापस मांगा, तो पहले टालमटोल किया और बाद में आंबेकर और उसके साथी व्यापारी को धमकी देने लगे। व्यापारी को समझ में आ गया था कि वह संतोष आंबेकर नामक बदमाश और उसके साथियों के चंगुल में फंस चुका है। व्यापारी को पैसे वापस देने के बहाने संतोष आंबेकर ने अपने घर पर बुलाया। जब व्यापारी, संतोष के घर पर पहुंचा, तब उसे बंधक बना लिया गया। उसे कार्यालय के अंदर ही संतोष और उसके साथियों ने बांधकर रखा। उससे 9 हजार रुपए का मोबाइल फोन, नकदी 29 हजार रुपए सहित 38 हजार  का माल संतोष आंबेकर और उसके अन्य साथियों ने छीन ली। जब व्यापारी ने उनसे 27 लाख रुपए की मांग की, तो उसे जान से मारने की धमकी मिलने लगी। वह आरोपियों की धमकियों से परेशान होकर फिनाइल पीकर आत्महत्या का प्रयास किया था।