दैनिक भास्कर हिंदी: अलीगढ़ मर्डर केस: बच्ची के साथ नहीं हुआ था रेप, आपसी रंजिश का बनी शिकार 

June 6th, 2019

हाईलाइट

  • अलीगढ़ के टप्पल इलाके 2 मई को ढाई साल की बच्ची का शव मिला था
  • पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि दम घुटने से बच्ची की मौत हुई
  • परिजनों ने रेप के बाद हत्या का आरोप लगाया था 
  • पुलिस ने बताया, यह निजी दुश्मनी का मामला है, 2 लोगों को अरेस्ट किया गया

डिजिटल डेस्क, अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में ढाई साल की बच्ची की हत्या के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। मासूम हवस का नहीं बल्कि पैसों के लेन-देन के चलते परिवार की आपसी दुश्मनी का शिकार हुई थी। गुरुवार को सामने आई पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक गला दबा कर बच्ची की हत्या की गई है। इससे पहले बच्ची के परिजनों ने आरोप लगाया था कि रेप के बाद हत्या की गई है। बता दें कि 2 मई को कचरे के ढेर में बच्ची का क्षत-विक्षत शव मिलने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है।   

गुरुवार (6 जून) को अलीगढ़ के एसएसपी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया, इस घटना के संबंध में अपहरण का केस दर्ज हुआ था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि बच्ची की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। इसमें रेप के कोई सबूत नहीं मिले हैं। उन्होंने इस केस को निजी दुश्मनी का मामला बताया है वहीं घटना से जुड़े दो लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

दरअसल पूरा मामला अलीगढ़ के टप्पल थाना क्षेत्र का है। यहां ये एक ढाई साल की बच्ची अपने घर के बाहर खेल रही थी और अचानक गायब हो गई। जब बच्ची का कुछ पता नहीं चला तो 31 मई को परिजनों ने पुलिस में अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस और परिजन लगातार बच्ची की तलाश में जुटे रहे। 2 मई को इलाके में ही कुछ आवारा कुत्तों को एक बच्ची के शव के साथ देखा गया, जिसके बाद इलाके में सनसनी फैल गई। कचरे के ढेर में मिला शव उसी बच्ची का था जो लापता थी। कुत्तों ने नोच-नोच कर शव को बुरी तरह से क्षत-विक्षत कर दिया था। मासूस के हाथ टूटे हुए थे। उसकी आंखों को भी नुकसान पहुंचाया गया था। 

मृतक बच्ची के परिजनों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या का आरोप लगाया था। परिवार वालों ने पुलिस पर भी कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया था। परिजनों के साथ-साथ पूरे गांव के लोगों ने आक्रोश में आकर सड़क जाम कर दिया था। कार्रवाई की मांग को लेकर बड़ी संख्या में लोग थाने भी पहुंचे थे। अब पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पुष्टि हुई है कि दम घुटने से बच्ची की मौत हुई। 

बताया गया कि, महज पांच से दस हजार रुपए के लेन-देन को लेकर चल रहे विवाद के चलते बच्ची की हत्या की गई। देनदारी के विवाद में हुई बेइज्जती का बदला लेने के लिए ढाई साल की मासूम की बेरहमी से दुपट्टे से गला दबाकर हत्या कर दी गई। उसके शव को भूसे में दबा दिया गया। जब उसमें से दुर्गंध आई तो शव को बाहर निकालकर फेंक दिया गया। इसके बाद कुत्तों ने उसे अपना निवाला बना लिया। यह खुलासा हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों ने किया है। 
 

खबरें और भी हैं...