दैनिक भास्कर हिंदी: मासूम की मौत पर देश में गुस्सा, जांच के लिए SIT गठित, इंस्पेक्टर सहित 5 निलंबित

June 7th, 2019

हाईलाइट

  • अलीगढ़ मर्डर मामले में जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) का गठन किया गया है
  • तीन सप्ताह में SIT अपनी रिपोर्ट देगी
  • 30 मई को घर से गायब हुई थी बच्ची 2 जून को मिला था शव

डिजिटल डेस्क, अलीगढ़। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में ढाई साल की मासूम ट्विंकल के साथ हुई दरिंदगी को लेकर पूरे देश में गुस्सा है। 30 मई को घर से गायब हुई ट्विंकल के साथ अमानवीय घटना ने सबको झकझोर दिया है। ढाई साल की बच्ची जो अभी ठीक से खड़ी भी नहीं हो पाती होगी उसके साथ आरोपी जाहिद और असलम ने जो हैवानियत की उससे किसी की भी रूह कांप जाएगी। 2 जून को ट्विंकल की लाश कूड़े से बरामद की गई। शव को कपड़े की पोटली में लपेटकर फेंका गया था, जो गल गया। उसका हाथ अलग मिला। शरीर के कुछ अंग गायब है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक बच्ची शरीर से अंगों को भी निकाला गया है।  

मामले की जांच के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) का गठन किया गया है। उत्तर प्रदेश के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने बताया कि SP ग्रामीण के नेतृत्व में SIT का गठन किया गया है। एक एक्सपर्ट, फॉरेंसिक टीम और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) की टीम भी जांच टीम का हिस्सा होगी जो फास्ट ट्रैक कोर्ट के बेस पर जांच करेगी। SP देहात मणिलाल पाटीदार के नेतृत्व में CO खैर पंकज श्रीवास्तव के पर्यवेक्षन में 4 विवेचक करेंगे जांच। तीन सप्ताह में SIT अपनी रिपोर्ट देगी। 

ये पूरा मामला
अलीगढ़ के पास टप्पल में 30 मई को एक ढाई साल की बच्ची गायब हुई थी। 2 जून को बच्ची का शव कपड़े में लिपटा घर से 100 मीटर की दूरी पर मिला। बच्ची का शव पूरी तरह से क्षत-विक्षत हालत में था। बच्ची के पिता ने पुलिस को दिए बयान में हत्या का शकर जाहिर किया। पिता ने पुलिस को बताया कि जाहिद ने उधार के पांच हजार रुपये को नहीं दिए, बल्कि पैसे मांगने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। पुलिस ने जाहिद व उसके पड़ोसी असलम को हिरासत में लेकर पूछताछ की थी। चार जून को हत्या का पर्दाफाश कर दोनों को जेल भेज दिया। पुलिस के अनुसार दोनों ने हत्या करना कुबूल किया। 

 

इन्हें किया गया निलंबित
अलीगढ़ में ढाई के मासूम की हत्या के मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। लापरवाही बरतने में एसएसपी ने टप्पल थाने के इंस्पेक्टर समेत पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किया है। इनमें तीन दारोगा व एक सिपाही भी शामिल है। सभी के खिलाफ जांच के भी आदेश दिए हैं। निलंबित किए गए पुलिसकर्मियों में इंस्पेक्टर कुशलपाल सिंह चाहल, दारोगा सत्यवीर सिंह, अरविंद कुमार, शमीम अहमद व सिपाही राहुल यादव शामिल हैं। 

न्याय के लिए तेजी से काम करे यूपी पुलिस- राहुल 

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी घटना पर अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए ट्वीट कर कहा है कि कोई इंसान कैसे एक छोटी बच्ची के साथ इस तरह की घटना को अंजाम दे सकता है। उन्होंने दोषियों को किसी भी कीमत पर नहीं बख्शने की मांग की। उन्होंने कहा है कि यूपी के अलीगढ़ में छोटी बच्ची की जघन्य हत्या ने मुझे हिला दिया है और मैं परेशान हूं। इस जघन्य घटना के आरोपी किसी भी सूरत में बचने नहीं चाहिए। यूपी पुलिस मामले को जल्दी निपटाए और आरोपियों को सजा हो। 

 

बच्ची के साथ हुई अमानवीय घटना ने हिलाकर रख दिया- प्रियंका गांधी 
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इस मामले पर कहा, अलीगढ़ की मासूम बच्ची के साथ हुई अमानवीय और जघन्य घटना ने हिलाकर रख दिया है। हम ये कैसा समाज बना रहे हैं? बच्ची के माता-पिता पर क्या गुजर रही है ये सोचकर दिल दहल जाता है। अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

बॉलीवुड ने उठाई न्याय की मांग 
उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना पर देशवासियों में आक्रोश बना हुआ है। बॉलीवुड सेलेब्स ने भी इस घटना के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया है। अभिषेक बच्चन, सनी लियोन, रवीना टंडन, अनूपम खैर, रितेश देशमुख, जेनेलिया देशमुख, अर्जुन कूपर, आय़ुष्मान खुराना, राजपाल यादव के अलावा खेल जगत की हस्तियां ने भी न्याय की मांग की है। किक्रेटर शिखर धवन, सानिया मिर्जा ने आरोपी को सख्त सजा देने की बात कही है।