बरगी बाँध के 7 गेट आधा-आधा मीटर की सीमा तक खुले: जिलहरी से ग्वारीघाट तक सारे टापू डूबे, नर्मदा मंदिर में गुंबद तक पानी

September 19th, 2021


डिजिटल डेस्क जबलपुर। बरगी बाँध के जल भराव वाले 3 स्टेशन में विगत दिवस एक इंच के करीब बारिश हुई। इस बारिश का पानी बाँध में आ रहा है, इसका असर यह है िक अभी भी बाँध के 7 गेट आधा-आधा मीटर की सीमा तक खुले हैं, जिनसे 546 घन मीटर प्रति सेकेण्ड की रफ्तार से पानी छोड़ा जा रहा है। इसी तरह पॉवर जनरेशन के बाद 170 घन मीटर प्रति सेकेण्ड की रफ्तार से भी पानी छोड़ा जा रहा है। दोनों को मिलाकर 716 घन मीटर प्रति सेकेण्ड की गति से पानी नर्मदा में जा रहा है। जल की इतनी मात्रा नर्मदा में मिलने से जलस्तर बढ़ गया है। जिलहरी घाट से लेकर ग्वारीघाट, सिद्धघाट और खारीघाट तक सभी टापू डूब गए हैं। ग्वारीघाट की दुकानें ऊपरी सीमा तक डूब गई हैं। साथ ही नर्मदा मंदिर भी डूब गया, इस मंदिर का अभी केवल ऊपर से गुंबद दिखाई दे रहा है। भटौली, जिलहरीघाट, उमाघाट, ग्वारीघाट, खारीघाट, तिलवारा, भेड़ाघाट, सरस्वतीघाट, झांसीघाट में ऊपरी सीमा तक पानी है। बांंध के कैचमेंट एरिया डिण्डौरी, मोहगाँव, मुक्की में बारिश होने से ये स्थिति बनी है।
एक नजर इस पर -
-422.60 मीटर अभी बाँध का जलस्तर
-716 घन मीटर प्रति सेकेंड नर्मदा में जा रहा पानी
-07 गेट आधा-आधा मीटर तक अभी भी खुले
-732 घन मीटर प्रति सेकेंड की रफ्तार से बाँध में आ रहा पानी
मानसून की आखिरी खेप में कुछ उम्मीदें -
इधर मानसून की अब विदाई का वक्त है। मानसून सीजन के 111 दिन बीत चुके हैं, शेष 9 दिन ही बचे हैं। मानसून के इन दिनों में अब तक 24 इंच बारिश हुई है। यह बारिश औसत या सामान्य से 35 फीसदी कम है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार बचे हुये दिनों में कुछ बारिश की उम्मीद है। लौटते मानसून से भी बारिश हो सकती है। अभी मानसून वैसे मध्य प्रदेश के अलावा देश के कई हिस्सों में सक्रिय है।
बारिश अब तक -
-24 इंच बारिश इस सीजन में अब तक
-39 इंच हुई थी गत वर्ष आज तक बारिश
-35त्न सामान्य या औसत से कम बारिश

 

खबरें और भी हैं...