दैनिक भास्कर हिंदी: ईडी के सामने पेश नहीं हुए अनिल देशमुख, दरेकर ने कहा - गिरफ्तारी का है डर

June 29th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मनी लांडरिंग मामले में पूर्व गृहमंत्री और वरिष्ठ राकांपा नेता अनिल देशमुख मंगलवार को भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के सामने पेश नहीं हुए। 71 वर्षीय देशमुख ने पत्र लिखकर कोरोना संक्रमण और अपनी उम्र का हवाला देते हुए ईडी से उसके चुने हुए ऑडियो विजुअल माध्यम (वीडियो कांफ्रेंसिग) के जरिए बयान दर्ज करने की बात कही है। देशमुख ने जांच एजेंसी से उसके द्वारा दर्ज की गई इंफोर्समेंट केस इंफार्मेशन रिपोर्ट (ईसीआईआर) की प्रति भी मांगी है। जांच एजेंसी द्वारा भेजे गए समन के जवाब में देशमुख की ओर से मंगलवार सुबह 11 बजे उनके वकील इंद्रपाल सिंह ईडी ऑफिस पहुंचे और देशमुख का पत्र अधिकारियों को सौंपा। इस दौरान मीडिया से बातचीत में सिंह ने कहा कि उनके मुवक्किल ने जांच एजेंसी से कुछ दस्तावेज मांगे हैं और ईसीआईआर की प्रति मांगी है। सिंह ने कहा कि समन से कोई एनेक्सचर जोड़ा नहीं गया है इसीलिए हमने दस्तावेजों की मांग की है। दस्तावेजों के अध्ययन के बाद देशमुख जांच एजेंसी के सवालों के जवाब देंगे। 

एडवोकेट सिंह ने कहा कि ईडी की नीयत ठीक नहीं लग रही है आखिर वे हमें दस्तावेज क्यों नहीं दे रहे हैं। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा देशमुख पर लगाए गए हर महीने 100 करोड़ रुपए की वसूली के आरोपों के आधार पर मनी लांडरिंग की जांच कर रही ईडी ने शुक्रवार को देशमुख और उनके करीबियों के पांच ठिकानों पर छापेमारी कर उनके निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को गिरफ्तार किया था। इसके बाद देशमुख को समन भेजकर शनिवार को बयान दर्ज करने के लिए बुलाया गया था लेकिन देशमुख ने अपने वकील के जरिए और समय मांगा था। इसके बाद जांच एजेंसी ने दूसरा समन भेजकर उन्हें मंगलवार सुबह 11 बजे जांच एजेंसी के दक्षिण मुंबई स्थित कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन इस बार भी देशमुख नहीं पहुंचे।  

आरोप झूठे और सतही

अनिल देशमुख ने अपने पत्र में लिखा है कि मैं कानून का पालन करने वाला नागरिक हूं। मुझे उम्मीद है कि मैं खुद पर लगाए गए झूठे, सतही और बिना सबूत के आरोपों को बेनकाब करने में कामयाब रहूंगा। देशमुख ने आगे लिखा है कि मेरी आयु 72 साल के करीब है और मैं उच्च रक्तचाप और दिल की बीमारी जैसी परेशानियों से जूझ रहा हूं। मुझे कोरोना संक्रमण का खतरा है। इसलिए अपने प्रतिनिधि के तौर पर अपने वकील को भेज रहा हूं। उन्होंने लिखा कि 25 जून को ही तलाशी के दौरान मैं जांच एजेंसी के प्रतिनिधियों से कई घंटे लंबी चर्चा कर चुका हूं। इस दौरान मेरा बयान भी दर्ज किया गया था। उन्होंने पत्र में लिखा कि ईसीआईआर के बारे में पूरी जानकारी मिलने के बाद मैं ईडी द्वारा मांगे गए सभी दस्तावेज और जानकारी मुहैया करा दूंगा। इसके अलावा ईडी कभी भी ऑडियो विजुअल माध्यम से उनका बयान दर्ज कर सकती है।  


गिरफ्तारी के डर के ईडी के सामने पेश नहीं हो रहे देशमुखः दरेकर

विधानपरिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने दावा किया है कि गिरफ्तारी के डर से पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से सामने पूछताछ के लिए हाजिर नहीं हो रहे हैं। दरेकर ने कहा कि देशमुख को ईडी के सामने पेश होकर उसके सवालों का जवाब देना चाहिए लेकिन देशमुख को आशंका है कि जिस तरह पूछताछ के बाद उनके सचिव रहे पलांडे और शिंदे को गिरफ्तार किया गया है उसी तरह मेरे साथ भी हो सकता है। इसी बात को लेकर शायद देशमुख डरे हुए हैं। मंगलवार को देशमुख कोरोना संक्रमण के डर और अपनी उम्र का हवाला देकर ईडी के सामने पेश नहीं हुए। दरेकर ने कहा कि जो होना है वह होकर रहेगा उसे टाला नहीं जा सकता। कानून से कोई भाग नहीं सकता। कानून सभी के लिए समान होता है। दरेकर ने कहा कि कानून के सामने अलग-अलग वजहों का हवाला देकर सच नहीं छिपाया जा सकता, दूर भी नहीं भागा जा सकता जो सच है वह सामने आकर रहेगा।