दैनिक भास्कर हिंदी: मुरादाबाद: मेडिकल टीम और पुलिस पर हमला करने वाले 17 लोग गिरफ्तार, 7 महिलाएं भी शामिल

April 16th, 2020

हाईलाइट

  • मुरादाबाद में स्वास्थ्य टीम और पुलिस पर पथराव
  • पुलिस ने हमले के मामले में 17 लोगों को किया गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, मुरादाबाद। लॉकडाउन के बीच उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद में स्वास्थ्य टीम और पुलिस पर पथराव करने वाले 17 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनमें सात महिलाएं भी शामिल हैं। मुरादाबाद के एसपी अमित कुमार आनंद ने बताया, IPC की संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पथराव में शामिल अन्य लोगों को जल्द पकड़ने के लिए टीमें गठित की गई हैं। बता दें कि, मंगलवार रात कोरोना के एक मरीज की मौत के बाद मेडिकल टीम उसके परिवार और आस-पास के लोगों को क्वारंटीन करने पहुंची थी, तभी लोगों ने घेरकर टीम पर पथराव कर दिया। जानकारी के मुताबिक, पकड़े गए लोगों की पहचान ड्रोन कैमरों की मदद से की गई थी। जिसमें घटनास्थल के पास कई महिलाएं और पुरुष छत से पथराव करते देखे गए।

ऐसे कैसे जीतेंगे जंग: देश में कोरोना वॉरियर्स पर हो रहे हमले, यूपी-बिहार में पुलिस और मेडिकल टीम पर पथराव और फायरिंग

मुरादाबाद के पुलिस अधीक्षक अमित पाठक ने घटना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, नागफनी थाना क्षेत्र के हॉटस्पॉट में दो दिन पहले यहां कोरोना पॉजिटिव कारोबारी की मौत हो गई थी। इसके बाद बुधवार दोपहर मेडि​कल टीम पुलिस को साथ लेकर उसके परिवार और आस-पड़ोस के सदस्यों को क्वारंटीन करने पहुंची। इसी दौरान पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम पर महिलाओं और कुछ लोगों ने पथराव कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही अधिकारी पहुंच गए। 

एंबुलेंस में मौजूद डॉक्टर को लोगों ने पीटा
एंबुलेंस और पुलिस की गाड़ी को भी पत्थरों से क्षतिग्रस्त किया गया। एंबुलेंस में मौजूद डॉ. एससी अग्रवाल को खींचकर लोगों ने पीटा। चारों तरफ से पथराव होने पर पुलिस के सिपाही और मेडिकल स्टाफ वहां से जान बचाकर भागे जबकि लोगों ने डॉक्टर की जमकर पिटाई की। मेडिकल स्टाफ ने बताया, लोगों ने पहले से ही उन लोगों को पीटने की तैयारी कर रखी थी।

आरोपियों से की जाएगी नुकसान की भरपाई
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर नाराजगी जताई है और आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) लगाए जाने के आदेश दिए हैं। सीएम के आदेश के अनुसार, नुकसान की भरपाई अब आरोपियों से की जाएगी।