दैनिक भास्कर हिंदी: मानव तस्करी : रिश्ते के भाई ने 52 हजार में बेच दी थी अपनी बहन, 4 आरोपी गिरफ्तार

April 3rd, 2019

डिजिटल डेस्क, सतना। मानव तस्करी के एक और सनसनीखेज मामले का पर्दाफाश करने में पुलिस को कामयाबी मिली है। जैतवारा पुलिस ने सागर जिले के शाहगढ़ थाना क्षेत्र के हीरापुर में दबिश देकर 26 वर्षीय आरोपी बल्ली सेन तनय गणेश सेन को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से लगभग ढाई माह से लापता 17 साल की नाबालिग लड़की भी बरामद कर ली गई है। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि आरोपी बल्ली सेन ने अपनी शादी के लिए अपहृत लड़की के एवज में लड़की के चचेरे भाई शेषमणि डोहर पिता अच्छेलाल (25) और उसकी पत्नी को 52 हजार रुपए दिए थे। इसी मामले के एक अन्य आरोपी अभिषेक उर्फ रामकुमार साकेत तनय रामकिशन (32) निवासी टिकुरिया टोला (सतना) को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।

दमोह में बंधक बना कर दुष्कर्म
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी अभिषेक उर्फ रामकुमार साकेत पर नाबालिग को बंधक बना कर दमोह में एक माह तक दुष्कर्म करने के आरोप हैं। आरोप है कि 5 जनवरी को अपहरण के बाद उसके चचेरे भाई शेषमणि ने लड़की नागौद में इसी आरोपी के सुपुर्द की थी। आरोपी अभिषेक ही इस लड़की को लेकर दमोह स्थित अपने एक रिश्तेदार के घर पर पहुंचा और फिर लड़की को लेकर सागर के हीरापुर गया। पीछे से शेषमणि और उसकी पत्नी पूजा भी पहुंच गए।  

ऐसे हुआ खुलासा, मां के पास आया था फोन
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 5 जनवरी को आरोपी शेषमणि डोहर नाबालिग लड़की को ये कह कर उसके घर से ले गया था कि उससे उसकी भाभी पूजा ने बुलाया है। इसके बाद लड़की घर नहीं लौटी। लड़की की मां ने 9 फरवरी को मामले की सूचना जैतवारा पुलिस को दी। मामला संज्ञान में आने पर आईपीसी के सेक्शन 363 के तहत अपराध दर्ज करते हुए प्रकरण विवेचना में लिया गया। घटना के लगभग ढाई माह बाद इस मामले में उस वक्त नया मोड़ आया जब 29 मार्च को अपहृत लड़की की मां के मोबाइल फोन पर लड़की का फोन आया, मगर वो ज्यादा बात नहीं कर पाई। मां ने जैतवारा के थाना प्रभारी हरीश दुबे को इत्तला दी तो पुलिस सक्रिय हो गई।

थाना प्रभारी ने एसपी इकबाल से मार्गदर्शन लेते हुए मोबाइल नंबर को साइबर सेल को दे दिया। साइबर सेल से पता चला कि जिस नंबर से फोन आया था,वो नंबर सागर जिले के शाहगढ़ थाना अंतर्गत हीरापुर निवासी बल्ली सेन पिता गणेश सेन का है। तत्काल पुलिस की एक पार्टी हीरापुर भेजी गई,जहां बल्ली के घर पर ही लड़की पुलिस को मिल गई। इसके बाद अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया।