दैनिक भास्कर हिंदी: विदर्भ में देर रात तेज बारिश, भंडारा में ओलावृष्टि, बढ़ी ठिठुरन

January 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विदर्भ में अचानक बारिश होने से फिर ठंड बढ़ गई है। गुरुवार की दोपहर से ही मौसम में बदलाव नजर आने लगा और नागपुर शहर में देर रात तेज बूंदा-बांदी हुई। जबकि भंडारा में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि होने की जानकारी है।  अमरावती, वर्धा, यवतमाल, गोंदिया, चंद्रपुर में भी देर रात बारिश हुई है । अकोला, गड़चिरोली सहित आसपास के क्षेत्रों में बादलों का डेरा बना हुआ । दरअसल, दिन में जमा हुई नमी के पिघलने से ऐसा हुआ। गुरुवार सुबह से दबी हुई धूप और हवा में तेजी ने बता दिया था कि मौसम में बदलाव के आसार हैं। शाम होते-होते मेघों का जमावड़ा शुरू हो गया। मौसम विभाग के अनुसार, हिमालय की तराई में बने पश्चिमी विक्षोभ और इससे जुड़ी पुरवईया में बनी द्रोणिका के प्रभाव से नमी का प्रवेश मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ तथा विदर्भ में हो रहा है।

भंडारा में ओलावृष्टि
भंडारा जिले में तेज बारिश के साथ कई स्थानों पर ओलावृष्टि हुई है। बेर के आकार के ओले गिरने से फसलों का नुकसान होने की जानकारी किसान दे रहे हैं। ओलावृष्टि से खेत में खड़ी फसलों को भारी नुकसान हुआ है।

आज भी हो सकती है बारिश
मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ सहित विदर्भ के कुछ स्थानों पर गरज के साथ छींटे व कहीं-कहीं तेज बौछारें पड़ने की संभावना है। पूर्वी मध्य प्रदेश में तो चेतावनी जारी की गई है। इन  गतिविधियों के कारण उत्तरी छत्तीसगढ़ से तेलंगाना तक एक उत्तरी दक्षिण द्रोणिका का निर्माण हो रहा है। इससे अलग-अलग दिशा से आने वाली हवाओं का संगम क्षेत्र भी विकसित होगा। मध्य महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना में भी 26 जनवरी से गरज के साथ हल्की व तेज बौछारें पड़ने के आसार हैं। 

अनुमान
अनुमान है कि शुक्रवार को दिन तापमान नीचे की ओर आ सकता है। हवा की गति तेज बनी रहेगी। इससे हल्की ठंड की अनुभूति होगी। दोपहर बाद मौसम की गतिविधियां तेज होंगी और बादलों की गड़गड़ाहट के साथ रात हल्की बूंदाबांदी से जिले के कुछ क्षेत्र प्रभावित होंगे। हालांकि पूर्व विदर्भ में इसके ज्यादा आसार हैं। शहर का पूर्वी भाग पार्डी, दिघोरी, बेसा-बेलतरोड़ी जैसे इलाके आंधी-तूफान के लिए संवेदनशील हैं। यहां गरज के साथ हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। 

इन क्षेत्रों पर विशेष असर
मौसम विज्ञानियों के अनुसार, विदर्भ में गोंदिया, गड़चिरोली, चंद्रपुर जिलों में वर्षा और अंधड़ का असर अधिक रहने का अनुमान है। पूर्वी मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में चेतावनी जारी की गई है। सतना से जबलपुर तक का क्षेत्र अधिक प्रभावित होने के आसार हैं।

किसान रहें सतर्क
गरज व तेज हवाओं के साथ बौछारें खेत में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा सकती हैं, इसलिए किसान सतर्कता बरतें।

सुबह तेज बारिश
शुक्रवार की सुबह नागपुर में तेज बारिश हुई। लगभग 2 घंटे बारिश होने से लोग घरों में ही दुबके रहे। विदर्भ के अन्य क्षेत्रों में  बदरीला मौसम हना गुआ है।  सुबह अलसाई और धुुंध भरी रही। हवा की गति तेज बनी रही। गुरुवार की दोपहर बाद बादलों की खेप का आना शुरू हुआ। शाम फिर हवा ने गति पकड़ी। शहर में कहीं-कहीं अंधड़ की स्थिति भी बनी। दिन में तापमान नीचे 15 डिग्री तक ही उतरा। इससे लगता है कि अब ठंड विदा लेने के मूड में है। हालांकि बादलों के छाए रहने से दिन के तापमान में विशेष बढ़त दर्ज नहीं की गई। नमी के बढ़ने से दिन का तापमान ठिठका रहा। आर्द्रता में भी वृद्धि दर्ज हुई है। मौसम विभाग के अनुसार, गुरुवार को अधिकतम तापमान 30.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 1 डिग्री अधिक रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य पर 13.9 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। आर्द्रता अधिकतम 86 तथा न्यूनतम 54 प्रतिशत रही। हवा की गति 4 किमी प्रतिघंटा दक्षिण-पूर्व की ओर है।