दैनिक भास्कर हिंदी: दलित महिला ने की आत्महत्या , मजबूर करने वाले 3 आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज 

July 24th, 2019

डिजिटल डेस्क, सतना। नागौद थाना इलाके के गिंजारा में 22 जुलाई की शाम एक दलित महिला अनुराधा उर्फ राधा अहिरवार को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में पुलिस ने गांव के ही 3 आरोपियों अनंत ब्राम्हण, मनोज उर्फ लल्लू ब्राम्हण और सुलक्षण ब्राम्हण के खिलाफ आईपीसी के सेक्सन 306, 294,323,506,34 और एससी-एसटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज करते हुए तलाश शुरु कर दी है। घटना स्थल का निरीक्षण करने के बाद पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने बताया कि इस मामले में सोशल मीडिया पर वायरल हुए पीडि़ता के मृत्यु पूर्व बयान के वीडियो को भी जांच में लिया गया है।

झगड़े की जड़ जमीन 

पुलिस के मुताबिक गिंजारा के सेहरा टोला निवासी मृतका अनुराधा उर्फ राधा का पति रामा अहिरवार पेशे से मजदूर है। इनका पुश्तैनी घर बारिश में डूब में आ जाने के कारण रामा ने गांव के ही एक बुनकर से 40 हजार रुपए में जमीन खरीद कर कच्चा घर बना रखा था। घर की सुरक्षा के लिए उसने बाड़ी लगा रखी थी। आरोपी अनंत ब्राम्हण, मनोज उर्फ लल्लू ब्राम्हण और सुलक्षण ब्राम्हण के खेत भी रामा की बाड़ी से लगे हुए हैं। आरोपियों ने रामा और उसकी पत्नी पर अवैध कब्जा करने की शिकायत करते हुए बहुत पहले सीमांकन कराए जाने की अर्जी हल्के की पटवारी दीपिका बागरी को दी थी। दोनों पक्षों की बीच रंजिश की यही वजह थी। 

ऐसे बिगड़ी बात 

पुलिस ने बताया कि घटना के दिन यानि 22 जुलाई को दीपिका बागरी प्रधानमंत्री आवास योजना के हित लाभ के सिलसिले में गिंजारा के सेहरा टोला पहुंची। इसी बीच तीनों आरोपी भी मौके पर पहुंच गए। उस वक्त रामा घर पर नहीं था। वो मजदूरी करने के लिए 4 किलोमीटर दूर कतकोन गांव गया हुआ था। आरोपियों ने एक बार फिर से पटवारी से अवैध कब्जे की शिकायत की तो  घर पर मौजूद अनुराधा ने प्रतिकार किया। आरोप है कि आरोपियों ने अनुराधा के साथ मारपीट शुरु कर दी। अनुराधा घर के अंदर गई और शरीर में मिट्टी का तेल डाल कर आग लगाने के साथ ही बाहर आ गई। आग की लपटें इतनी तेज थीं कि देखते ही देखते अनुराधा 90 फीसदी जल गई। वो अचेत होकर घर के बाहर सड़क पर जा गिरी। पड़ोसियों से खबर मिलने पर रामा अहिरवार घर पहुंचा। अपने छोटे भाई संजय और अन्य ग्रामीणों की मदद से अनुराधा को पहले नागौद स्थित सामुदायिक अस्पताल और फिर जिला अस्पताल लाया गया। रात लगभग 12 बजे इलाज के दौरान उसकी मृत्यु हो गई।  

पति को सशस्त्र सुरक्षा 

मृतका अनुराधा उर्फ राधा के पति रामा अहिरवार की मांग पर पुलिस अधीक्षक ने उसे सशस्त्र सुरक्षा प्रदान की है। सुरक्षा में 2 जवानों को तैनात किया गया है। उधर, गांव में एहतियाती तौर पर एसडीओपी रवि शंकर पांडेय की निगरानी में सुरक्षा के सख्त प्रबंध किए गए हैं। बालाघाट से तबादले पर आए इंस्पेक्टर मनोज सोनी को आनन फानन में नागौद थाने की कमान सौंपी गई है। मंगलवार को एसपी ने घटना स्थल का निरीक्षण कर मृतका के परिजनों और ग्रामीणों से बातचीत की। एफएसएल आफीसर डा.महेन्द्र सिंह ने भी मौके की फोरेंसिक पड़ताल की।