दैनिक भास्कर हिंदी:    सतना-कटनी के बीच रेल विद्युतीकरण के काम की बढ़ रही तारीख पर तारीख 

February 1st, 2020

 डिजिटल डेस्क सतना। मुंबई-हावड़ा रेल खंड पर सतना-कटनी के बीच सिर्फ 99 किलोमीटर पर  7 साल से निर्माणाधीन रेल विद्युतीकरण के लिए अब एक और तारीख मुकर्रर की गई है। शुक्रवार को विद्युतीकरण के निरीक्षण पर आए पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक शैलेन्द्र सिंह ने हर हाल में 15 मार्च तक कमा पूरा करने की हिदायत दी है। जीएम की इस हिदायत के बाद माना जा रहा है कि ये आखिरी तारीख है। विलंब के सवाल पर रेलवे बोर्ड भी खुश नहीं है। जानकारों का अनुमान है कि 20 से 22 मार्च के बीच रेलवे सेफ्टी ऑफ कमिश्नर (सीआरएस) का भी निरीक्षण हो सकता है। उम्मीद लगाई जा सकती है कि 44 करोड़ 66 लाख के इस प्रोजेक्ट का नए वित्त वर्ष के पहले हर कीमत पर पूरा कर लिया जाएगा। जीएम दौरे के दौरान 
डीआरएम संजय विश्वास और सीपीडी लखनऊ सुधांशु कृष्णकांत दुबे भी साथ में थे। 
मैहर और भदनपुर के बीच है बाधा :- 
रेल विद्युतीकरण से जुड़े अधिकारियों ने जीएम को बताया कि सतना से मैहर और कटनी से भदनपुर के बीच काम पूरा हो चुका है।  भदनपुर और मैहर के बीच काम   चल रहा है। अभी इस रेल खंड पर पोल के लिए 100 गडढे तैयार करने का काम पूरा नहीं हुआ है। शेष रेल मार्ग पर ओवर हेड वॉयर डाले जा चुके हैं। 
 बन कर तैयार हैं 2 सब स्टेशन :-
सतना-कटनी के बीच बिजली गाडिय़ां चलाने के लिए भदनपुर और पटवारा में अलग-अलग 2 सब स्टेशन बनाए गए हैं। दोनों सब स्टेशन की क्षमता 132 केवी है। पटवारा के सब स्टेशन को कटनी और भदनपुर के सब स्टेशन को मैहर से पावर की सप्लाई दी जानी है। बताया गया कि पटवारा सब स्टेशन जहां पूरी तरह तैयार है,वहीं भदनपुर सब स्टेशन में एक करंट ट्रांसफार्मर बैठाने का काम चल रहा है। ये काम 15 फरवरी तक पूरा कर लिया जाएगा। 
अंडर ग्राउंड होगा 33 केवी फीडर :---- 
मैहर-सतना रेल खंड पर विंडो निरीक्षण के दौरान लगरगवां और सतना नदी के बीच रेल लाइन के ऊपर से निकले 33 केवी फीडर के संज्ञान में आने पर पमरे के जीएम   शैलेन्द्र सिंह ने इस लाइन को भूमिगत किए जाने के निर्देश  दिए। इससे पहले उन्होंने पटवारा, झुकेही यार्ड लाइन और भदनपुर स्टेशनों का निरीक्षण किया। जीएम ने मैहर और सतना स्टेशन में लिफ्ट के संबंध में जानकारी भी प्राप्त की। इस दौरान  सीनियर डीएन को संजय यादव , सीनियर डीएन नरेन्द्र लोधी, एरिया मैनेजर मृत्युंजय कुमार, एडीएन पीके शर्मा, एडीएसटी उमेश पवार, स्टेशन प्रबंधक एसके मिश्रा, आरपीएफ पोस्ट प्रभारी मानसिंह और जीआरपी प्रभारी संतोष तिवारी की उपस्थिति भी उल्लेखनीय रही। 

खबरें और भी हैं...