comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

दिल्ली: पुलिस ने अवैध हथियारों के तस्कर को किया गिरफ्तार, 20 पिस्तौल और 50 कारतूस बरामद

दिल्ली: पुलिस ने अवैध हथियारों के तस्कर को किया गिरफ्तार, 20 पिस्तौल और 50 कारतूस बरामद

हाईलाइट

  • गिरफ्तार किया गया तस्कर भरतपुर, राजस्थान का निवासी है
  • दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान में हथियार बेचता था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी पुलिस की स्पेशल सेल ने देश में पहले अंतर्राज्यीय हथियार तस्कर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। गिरोह का सरगना गिरफ्तार कर लिया गया है। हथियार तस्कर से 20 पिस्तौल और 50 जीवित कारतूस जब्त किए गए हैं। यह जानकारी शुक्रवार को दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के DCP प्रमोद कुमार सिंह कुशवाह ने दी।

DCP के मुताबिक, इस खतरनाक गिरोह के पीछे स्पेशल सेल के दो ASP ललित मोहन नेगी, हृदय भूषण के नेतृत्व वाली दो टीमें महीनों से देशभर की खाक छान रही थीं। पीछा करते-करते स्पेशल सेल की टीम में शामिल इंस्पेक्टर संजय गुप्ता व राजेश कुमार को राजस्थान के भरतपुर इलाके से बड़ी तादाद में इन हथियारों की तस्करी के बाबत पुख्ता जानकारी मिल गई।

राजस्थान का निवासी है तस्कर
इसके बाद ऑपरेशन को अंजाम तक पहुंचाने के लिए दो सब-इंस्पेक्टर अरुण दहिया, अजय स्वामी के साथ सिपाही सुनील, नवीन व देवेंद्र की टीमें हथियार तस्कर के पीछे लगा दी गईं। गुप्त सूचनाएं शत-प्रतिशत सही साबित होते ही स्पेशल सेल की टीमों ने नई दिल्ली जिले में स्थित तालकटोरा पार्क गोलचक्कर के पास घेराबंदी कर दी। गिरफ्तार शख्स ने अपना नाम साजिद (20) निवासी भरतपुर, राजस्थान बताया।

पुलिस ने बरामद किए हथियार
स्पेशल सेल की टीम ने जब गहराई से पूछताछ की, तो आरोपी ने 20 पिस्तौल और 50 जीवित कारतूस भी जब्त करा दिया। DCP प्रमोद कुमार सिंह कुशवाह के मुताबिक, साजिद के पास से 10 अवैध सेमी-ऑटोमैटिक प्वाइंट-32 बोर की पिस्तौल और 10 प्वाइंट-315 बोर की सिंगल-शॉट अवैध पिस्तौल बरामद हुईं। इसके साथ ही साजिद ने पुलिस टीम को दोनों ही हथियारों के 50 जीवित कारतूस भी बरामद कराए।

पूछताछ में पुलिस टीमों को पता चला कि हिंदुस्तान के तमाम राज्यों की पुलिस की नींद उड़ाने वाला साजिद सिर्फ सातवीं जमात ही पास है। पढ़ाई छोड़ने के बाद उसने कुछ समय तक ट्रक ड्राइवरी की। उसके बाद कुछ वक्त उसने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-47 (लेबाड बाइपास, धार) पर एक ढावा भी चलाया। हर काम में वो असफल रहा।

तस्कर का कबुलनामा
पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में साजिद ने कबूला, देश के कई इलाकों से एक पिस्तौल वह मात्र 2 या तीन हजार रुपये में खरीद लाता था। उसके बाद देश राजधानी दिल्ली, यूपी, राजस्थान सहित तमाम इलाकों में वही 2-3 हजार वाली अवैध पिस्तौल 20 से 25 हजार रुपये में बेच देता था। इसमें साजिद को कई गुना मुनाफा बिना कुछ करे-धरे हो रहा था। साजिद ने कई और हथियार तस्कर गिरोह के बारे में भी पुलिस को बताया है। पुलिस उनकी तलाश में भी छापेमारी कर रही है।

कमेंट करें
jU2Ds
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।