comScore

कालीधाम में  गुरु और  शिष्य के बीच मतभेद -धोखाधड़ी करने का आरोप

कालीधाम में  गुरु और  शिष्य के बीच मतभेद -धोखाधड़ी करने का आरोप

डिजिटल डेस्क जबलपुर। ग्वारीघाट के ग्राम भटौली स्थित कालीधाम शक्तिपीठ के गुरु दंडीस्वामी कालिकानंद सरस्वती द्वारा पुलिस अधीक्षक व ग्वारीघाट थाने में शिकायत देकर अपने शिष्य राधेचैतन्य के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने आश्रम की परंपरा और मर्यादा को खतरा बताते हुए अपने शिष्य की गतिविधियों के प्रमाण प्रस्तुत कर जाँच करते हुए धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किए जाने की माँग की है। वहीं उन्हें ट्रस्ट से भी हटा दिया गया है।  
धोखाधड़ी करने के गंभीर आरोप
 इस मामले को लेकर थाने में की गई शिकायत में शिष्य पर छलपूर्वक षड्यंत्र कर धोखाधड़ी करने आदि के गंभीर आरोपों की जाँच कर कार्रवाई की माँग की गई है। वहीं श्री कालीधाम मानव कुल कल्याण परिषद कालीधाम, भटौली के ट्रस्टीगणों ने सर्वस्वीकृति से स्वामी प्यारेनंद सरस्वती एवं द्विपीठाधीश्वर स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के आदेश का पालन करते हुए डॉ. स्वामी राधेचैतन्य उर्फ राधेश्याम पांडे पिता जगदीश चंद पांडे उर्फ रईसचंद पांडे के आचरण को असंवैधानिक और गुरु-शिष्य की परंपरा के विपरीत और आश्रम की छवि धूमिल करने वाला बताते हुए उन्हें आश्रम की समस्त गतिविधियों से मुक्त कर निर्वासित कर दिया है। आश्रम में गुरु-शिष्य के बीच चल रहे विवाद के मामले में डॉ. स्वामी राधेचैतन्य  का पक्ष जानने के लिए मोबाइल पर संपर्क करने की कोशिश की गई, लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका।

कमेंट करें
ftyol