दैनिक भास्कर हिंदी: ड्रग्स सप्लाइ करने वाला पुलिस के हत्थे चढ़ा , कार में मिला मुंबई से भेजा गया मेफड्रोन का पार्सल 

August 17th, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर। मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त आरोपी को गिरफ्तार कर पुलिस ने उसके कब्जे से मादक पदार्थ एमडी (मेफड्रोन) और कार जब्त कर लिया  है। कार्रवाई 15 अगस्त को अपराध शाखा के मादक पदार्थ विरोधी दस्ते ने की। 

जानकारी अनुसार आरोपी मो. शाहरुख मो. शफी शेख (26), गणेश नगर, बहादुरा निवासी है। अपराध शाखा को गुप्त सूचना मिली कि, शाहरुख के पास मादक  पदार्थ एमडी (मेफड्रेान) है। सूचना को गंभीरता से लेकर शाहरुख को उसकी बस्ती में ही घेर लिया गया। तलाशी के दौरान पुलिस को उसकी कार क्र-एम.एच.-31-सी.एम.-3022 से 10 ग्राम एमडी मिला। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कार सहित सवा पांच लाख का माल कब्जे में ले लिया।  निरीक्षक राजू बहादुरे ने बताया कि, आरोपी मादक पदार्थों का कुख्यात तस्कर है।

पूर्व में भी उसके खिलाफ लगभग दर्जनभर प्रकरण दर्ज हैं। कुछ मामलों में वह फरार था। जो कार जब्त की गई है, वह कार भी शाहरूख की है। उसने हाल की में किसी व्यक्ति से यह खरीदी है। आरोपी रिकॉर्ड में कार अपने नाम पर भी दर्ज करना बाकी है। यह कार उसने तस्करी के रुपए से ही खरीदी है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि, उसने एमडी का पार्सल मुंबई से मंगवाया था। इसे बेचने में सफल होता इसके पहले ही पुलिस ने उसे दबोच लिया। आरोपी का मोाबाइल भी जब्त किया गया है। इसके जरिए  मुख्य आरोपी को पकड़ा जा सका। अदालत में पेश कर शाहरूख को पीसीआर में लिया गया है। निरीक्षक राजू बहादुरे, अविनाश तायडे, राजेश ठाकुर, विनोद मेश्राम, सतीश मेश्राम, सचिन शेलोकर, राहुल गुमगांवकर, अमोल पडघन और कुंदा जांभुलकर ने कार्रवाई की है। 

20  साल से चाेरी-लूटपाट का फरार आरोपी पकड़ाया

चोरी-लूटपाट जैसी आपराधिक घटनाओं में बीस साल से फरार आरोपी को सदर पुलिस ने दबोच लिया। अदालत के निर्देश पर उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी अरुण गुलाबराव वानखेड़े (42), गिट्टीखदान स्थित दशरथ नगर वर्तमान में आठवां मैल, बाजार चौक निवासी बीस साल से चोरी और लूटपाट के तीन मामलों में फरार था। अदालत के पुलिस को निर्देश थे कि, उसे पकड़ कर अदालत में पेश किया जाए। पुलिस लगातार अरुण को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही थी, लेकिन वह हर बार पुलिस को चकमा दे रहा था। इस बीच पुलिस को पता चला कि, अरुण ने अपना घर बदल लिया है और अब आठवां मैल बाजार चौक में रह रहा है। इसकी भनक लगते ही पुलिस जाल बिछाकर उसे धरदबोचा।