दैनिक भास्कर हिंदी: जबलपुर-रीवा शटल सहित आठ पैसेंजर ट्रेनें जल्द शुरू हो सकती हैं प्रस्ताव तैयार,

December 11th, 2020

रेलवे बोर्ड के आदेश पर रेल मंडल ने जोन से माँगी अनुमति
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो संभवत: अगले सप्ताह से जबलपुर-रीवा शटल, जबलपुर-नैनपुर पैसेंजर, इटारसी शटल सहित 8 पैसेंजर गाडिय़ाँ पटरी पर दौड़ती हुई नजर आ सकती हैं क्योंकि इन पैसेंजर गाडिय़ों को चलाने के लिए जबलपुर रेल मंडल ने पश्चिम मध्य रेल मुख्यालय के पास प्रस्ताव भेजकर संचालन की अनुमति माँगी है। रेलवे से मिले सूत्रों का कहना है कि गत दिवस रेलवे बोर्ड ने अनारक्षित पैसेंजर ट्रेनों को चलाने और जनरल टिकट विंडो को खोलने के आदेश सभी रेल जोन को दिए हैं, जिसके बाद पश्चिम मध्य रेल मुख्यालय और मंडल में पैसेंजर ट्रेनों को चलाने की योजना को लेकर हलचल शुरू हो गई है। कई दौर की बैठकें भी हो चुकी हैं। 
सामान्य यात्रियों की साल भर भीड़ रहती है...
 बताया जा रहा है कि रेलवे बोर्ड के आदेश के आने के बाद जबलपुर रेल मंडल ने पमरे मुख्यालय के पास प्रस्ताव तैयार कर जबलपुर-रीवा शटल सहित 8 ट्रेनों को चलाने का प्रस्ताव भेज दिया है, जिस पर रेल प्रशासन द्वारा विचार किया जा रहा है। रेल मंडल ने प्रस्ताव में सबसे ऊपर जबलपुर-रीवा शटल का नाम रखा गया है, साथ ही यह भी कहा गया है कि जबलपुर-रीवा शटल में साल भर सामान्य यात्रियों की भीड़ रहती है। अनारक्षित ट्रेनों को चलाने की माँग काफी समय से की जा रही है इसलिए रीवा शटल को यात्रियों की सुविधा के लिए चलाया जा सकता है। कुछ ऐसे ही बातें अन्य पैसेंजर ट्रेनों के लिए भी प्रस्ताव में कही गई हैं। 
जनरल टिकट विंडो खोलने की हो रही तैयारी 
 रेलवे के सूत्रों का कहना है कि रेल मंडल ने जिन यात्री ट्रेनों को अनारक्षित टिकट यानी जनरल टिकट के साथ चलाने का प्रस्ताव भेजा है, उस पर विचार करने के साथ मुख्य रेलवे स्टेशन के जनरल टिकट विंडो को भी खोलने की तैयारी की जा रही है, जो करीब 7 महीने से बंद हैं और इन विंडोज पर काम करने वाले बुकिंग क्लर्क के पास कोई काम नहीं है। सीमित ट्रेनों के संचालन के कारण बड़ी संख्या में टिकट चैकिंग स्टाफ को भी काम नहीं मिल पा रहा है। यही वजह है कि रेल प्रशासन मंडल के प्रस्ताव के अनुसार अगले सप्ताह तक कुछ पैसेंजर ट्रेनों को चलाने का ऐलान कर सकता है। जिसमें  यात्री जनरल टिकट लेकर सफर कर सकेंगे। हालाँकि इस व्यवस्था को लागू करने से पहले रेलवे को कोविड-19 के नियमों का सख्ती से पालन कराने की पूरी तैयारी करनी होगी। 
 

खबरें और भी हैं...