दैनिक भास्कर हिंदी: किसान आत्महत्या रोकने के लिए उस्मानाबाद और यवतमाल जिलों को 15 करोड़ की मदद 

November 19th, 2017

डिजिटल डेस्क, मुंबई। किसानों की आत्महत्या रोकने के लिए उस्मानाबाद और यवतमाल जिले के लिए 15 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। प्रदेश सरकार ने साल 2017-18 के लिए विशेष मदद कार्यक्रम के तहत राशि मंजूर की। राजस्व विभाग की तरफ से इसे लेकर आदेश जारी हुए हैं। जिसके अनुसार बलीराजा चेतना अभियान को लागू करने के लिए दोनों जिलों को कुल 3.43 करोड़ रुपए दिए गए हैं। दोनों जिलों की कुल 2885 ग्राम स्तरीय समितियों को 11.54 करोड़ रुपए मंजूर किए गए हैं। हर समिति को 40-40 हजार रुपए मिलेंगे। सरकार ने कहा है कि मंजूर निधि से किसी प्रकार की सामग्री नही खरीदी जा जा सकती है। निधि का उपयोग विभिन्न योजनाओं पर होना चाहिए।

शिवसेना ने भी की थी मदद
इससे पहेल दिवंगत शिवसेना प्रमुख बालासाहब ठाकरे की पांचवीं पुण्यतिथि पर पार्टी की तरफ प्रदेश के किसानों के लिए सीएम किसान सहायता निधि में 2 करोड़ रुपए दिए गए थे। सीएम देवेंद्र फडणवीस को शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे ने दादर स्थित महापौर बंगले में दो करोड़ रुपए का चेक सौंपा था। सीएम ने कहा था कि यह निधि किसानों के कल्याण में खर्च होगी। पार्टी की तरफ से जुटाई गई निधि के कारण किसानों में सकारात्मक संदेश जाएगी कि सरकार किसानों के साथ खड़ी है।

पायलट प्रोजेक्ट शुरू

राज्य सरकार की तरफ से किसानों की आत्महत्या को रोकने के लिए उस्मानाबाद और यवतमाल में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। साल 2015-16 आर्थिक वर्ष में 48.85 करोड़ रुपए मंजूर किए गए थे। जिसमें 70 प्रतिशत राशि 34.19 करोड़ रुपए बांट गए थे। साल 2016-17 में दोनों जिलों के लिए 10 करोड़ रुपए आकस्मिक निधि से उपलब्ध कराए गए थे। इस साल बजट में दोनों जिलों के लिए 15 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था। इसके अनुसार यवतमाल और उस्मानाबाद जिले के लिए निधि उपलब्ध कराई गई है।