comScore

नतीजे साफ होते ही फडणवीस ने कहा- जीत का जश्न मनाने का वक्त, बीजेपी का स्ट्राइक रेट बढ़ा

नतीजे साफ होते ही फडणवीस ने कहा- जीत का जश्न मनाने का वक्त, बीजेपी का स्ट्राइक रेट बढ़ा

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधानसभा सीटों में कमी के बावजूद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि इस बार पार्टी का स्ट्राइक रेट 45 फीसदी से बढ़कर 70 फीसदी पहुंचा है। उन्होंने कहा कि फिलहाल जीत का जश्न मनाने का समय है। सातारा लोकसभा और परली विधानसभा सीट पर मिली हार चुभने वाली है और हम इसका विश्लेषण करेंगे। साथ ही मुख्यमंत्री पद पर लग रही अटकलों पर फडणवीस ने यह कहते हुए विराम लगाने की कोशिश की कि शिवसेना के साथ चुनाव से पहले ही हमारा समझौता हो चुका है हम उस पर ही आगे बढ़ेंगे। चुवाल नतीजों के बाद गुरुवार को मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विधानसभा चुनावों में युति को स्पष्ट बहुमत देने के लिए मैं जनता का आभारी हूं। राज्य में पहली बार जनता ने किसी मुख्यमंत्री को दोबारा सरकार बनाने का मौका दिया है। हम जनता की उम्मीदों को पूरा करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ सहयोगी पार्टी के नेताओं उद्धव ठाकरे, रामदास आठवले, विनायक मेटे और सदाभाऊ खोत का भी मुख्यमंत्री ने आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि भाजपा एक बार फिर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है।

260 सीट पर लड़ कर जीती थी 122 सीटे

मुख्यमत्री ने कहा कि पिछली बार हमने 260 सीटों पर चुनाव लड़कर 122 सीटों पर चुनाव जीता था। इस बार शिवसेना के साथ युति के चलते हम 150 और अन्य सहयोगी दल 14 सीटों पर लड़े। कम सीटें लड़ने के बावजूद 70 फीसदी स्ट्राइक रेट के साथ हम करीब 105 सीटें जीत रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली बार हमने 260 सीटों पर 28 फीसदी वोट हासिल किए थे लेकिन इस बार सिर्फ 150 सीटों पर 26 फीसदी से ज्यादा वोट मिले। इससे साफ है कि मतदाताओं के बीच हमारा समर्थन बढ़ा है। 

बागियों ने बढ़ाई मुश्किल, अब वे हमारे साथ 

मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि इस बार शिवसेना से गठबंधन के चलते पार्टी के कई कार्यकर्ताओं को दोनों पार्टियां टिकट नहीं दे पाईं। हमें मानना पड़ेगा कि कार्यकर्ताओं की नाराजगी का असर नतीजों पर दिखा है। लेकिन 15 जीते हुए विधायकों ने खुद मुझ से संपर्क किया है और वे हमारे साथ आना चाहते हैं।

हम नहीं करते सौदेबाजी

फडणवीस ने कहा कि नतीजों के बाद जिस तरह की अटकलें लगाईं जा रहीं हैं उसका कोई तुक नहीं है क्योंकि शिवसेना के साथ उन्होंने पहले ही तय कर लिया है। नतीजों के बाद उनकी उद्धव से फोन पर बात हुई है। युति करने से पहले हमारी जिन मुद्दों पर सहमति बनी थी उसी के आधार पर आगे बढ़ेंगे। मीडिया को भी जल्द ही इसकी जानकारी दे दी जाएगी। हम हिंदुत्व के मुद्दे पर साथ हैं और एक दूसरे से सौदेबाजी नहीं करते। 


 

कमेंट करें
NUmPZ