महाराष्ट्र: पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करा रहे हैं उर्वरक, यूरिया संयंत्र स्थापित करने की योजना नहीं

July 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने इस बात से इंकार किया है कि महाराष्ट्र में मांग के मुताबिक उर्वरकों की आपूर्ति नहीं हो रही है। केन्द्रीय रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री भगवंत खुबा ने कहा कि पिछले दो वित्तीय वर्ष के दौरान महाराष्ट्र में यूरिया की उपलब्धता सहज रही है। खुबा ने लोक सभा में शिवसेना के कृपाल तुमाने के एक प्रश्न के लिखित जवाब में कहा कि वर्ष 2020-21 में महाराट्र में यूरिया की मांग 25 एलएमटी थी जबकि उपलबधता 29.76 एलएमटी रही। इसी प्रकार फास्फोरस और पोटाश की मांग 32.50 थी जबकि आपूर्ति 50.76 हुई। इसी प्रकार वर्ष 2021-22 में महाराष्ट्र मेें यूरिया और पीएंडके की आवश्यकता क्रमश: 25.50 और 34.52 एलएमटी थी, जबकि इसकी उपलब्धता 28.29 और 39.02 रही।

महाराष्ट्र में यूरिया संयंत्र स्थापित करने की योजना नहीं

एक अन्य प्रश्न के जवाब में खुबा ने कहा कि महाराष्ट्र में यूरिया संयंत्र स्थापित करने की केन्द्र सरकार की कोई योजना नहीं है। उन्होंने बताया कि सरकार ने जेवीसी के माध्यम से फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन आॅफ इंडिया की रामागुंडम, गोरखपुर, सिंदरी और तलचर इकाईयों तथा हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन की बरौनी इकाई का प्रत्येक स्थान पर 12.7 एमएमटीपीए क्षमता के नए अमोनिया यूरिया संयंत्र स्थापित करके पुनरूद्धार करने का काम किया है।