दैनिक भास्कर हिंदी: नाग नदी में मलबा डालने पर मेट्रो पर ठोंका गया एक लाख का जुर्माना

May 10th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर महानगरपालिका के नदी स्वच्छता अभियान को ठेंगा दिखाते हुए माझी मेट्रो के निर्माण कार्य का मलबा नाग नदी में डालना मेट्रो प्रबंधन को महंगा पड़ गया। मामले के खुलासे के बाद गुरुवार को दोपहर मनपा के आरोग्य समिति सभापति मनोज चापले ने मौके का निरीक्षण किया। इस दौरान मेट्रो के निर्माण कार्य से निकलने वाला मलबा नाग नदी में भारी मात्रा में देखने को मिला। इस पर सभापति ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि नाग नदी में मलबा फेंकने पर एक लाख रुपए का जुर्माना वसूल किया जाए।

भास्कर ने उजागर किया मामला

उल्लेखनीय है कि दैनिक भास्कर ने खबर प्रकाशित की गई थी। इस पर तत्परता दिखाते हुए मनपा आरोग्य समिति सभापति चापले ने मौके पर जाकर निरीक्षण किया तो सामने आया कि 4 अलग-अलग जगह पर मेट्रो के निर्माण कार्य से निकलने वाला मलबा नाग नदी में फेंका गया है। मुंजे चौक के पास बने पुल के दोनों तरफ निर्माण कार्य चल रहा है, उसका भी सारा मलबा नाग नदी में फेंका जा रहा है। इतना ही नहीं, नाग नदी की सुरक्षा दीवार को भी तोड़ िदया गया है। हैरानी तो यशवंत स्टेडियम से धंतोली थाने के पीछे की ओर जाने वाले रास्ते पर हुई, जहां नाग नदी की दीवार को तोड़कर सारा मलबा नाग नदी में फेंक दिया था। इससे नाग नदी सड़क के बराबर तक पहुंच गई है। 

सभापति ने पूछा-किससे ली अनुमति

मुंजे चौक के पास स्थित पुल के पास नाग में फेंके जा रहे मलबे के बारे में सभापति चापले ने माैके पर मौजूद अधिकारियों से पूछा कि आपने यह दीवार तोड़ी, उसके लिए किससे अनुमति ली। उसके बाद लगातार उसमें मलबा डाल रहे हो, इसके लिए मनपा में किसी से अनुमति ली या सूचित किया। इस पर अधिकारियों ने कहा कि हम काम पूरा होने के बाद सारा मलबा िनकाल लेंगे। सभापति ने पूछा कि आधा मलबा तो पहले ही बह चुका है, उसे वापस कैसे निकालोगे। बारिश में शहर भर में जलभराव की स्थिति निर्मित होती है, जिससे बचने के लिए मनपा नदी स्वच्छता अभियान चला रहे हैं और आप नदी में मलबा डाल रहे हैं, यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।