comScore

कचरा डंपिंग पहुंचे मनपा आयुक्त, सूखा-गीला कचरा एक साथ देख लगाई फटकार

कचरा डंपिंग पहुंचे मनपा आयुक्त, सूखा-गीला कचरा एक साथ देख लगाई फटकार

 डिजिटल डेस्क,  नागपुर  । मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे भांडेवाड़ी के कचरा डंपिंग यार्ड में पहुंचे। उन्होंने यार्ड की व्यवस्था की जानकारी ली। गीला सूखा कचरा एक साथ ही पाए जाने पर सहयोगी कर्मचारियों को फटकार लगाई। कड़े शब्दों में नाराजगी जताई। उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा कि गीला व सूखा कचरा अलग अलग रखने व स्वतंत्र वैधानिक पद्धति से प्रक्रिया नहीं किए जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। 

कचरे के ढेर पर जा चढ़े आयुक्त
आयुक्त मुंढे सुबह 9 बजे ही डंपिंग यार्ड पर पहुंच गए थे। उनके साथ स्वास्थ्य व स्वच्छता अधिकारी डॉ.प्रदीप दासरवार, कार्यकारी अभियंता जलप्रदाय श्वेता बैनर्जी, उप अभियंता राजेश दुपारे थे। आयुक्त मुंढे ने सबसे पहले कचरा मापने की पद्धति की जानकारी ली। उसके बाद कचरे के ढेर पर चढ़े। 

संकलित किए जा रहे कचरे की जानकारी ली। कचरा संकलन करनेवाली एजेंसी की ओर से गीला व सूखा कचरा एकत्रित संकलित करने की जानकारी मिली। यह भी बताया गया कि सभी कचरा एक साथ यार्ड में डाला जा रहा है। प्लास्टिक भी अलग नहीं की जाती है। हंजर के कचरा कंपोस्टिंग प्रकल्प की जानकारी भी उन्होंने ली।

कचरा नियोजन प्राथमिकता
मनपा आयुक्त ने कचरा नियोजन के कार्य का पहली प्राथमिकता दी है। शहर में एक लाख नागरिक अस्थमा पीड़ित हैं। भांडेवाड़ी के कचरे से वायु प्रदूषण हो रहा है। लिहाजा कचरा की वैज्ञानिक पद्धति से प्रक्रिया आवश्यक है। आयुक्त ने नागरिकों से भी आह्वान किया है कि अलग अलग कचरा दिया जाए। 

महापौर से उनके कक्ष में जाकर मिले मुढे
मनपा के आयुक्त तुकाराम मुंढे ने बुधवार को महापौर संदीप जोशी से उनके कक्ष में जाकर भेंट की। करीब 15 मिनट तक अनौपचारिक चर्चा की। शहर विकास से संंबंधित योजनाओं के अलावा विविध समस्याओं व प्रकल्पों के बारे में चर्चा की। 

मेयर इनोवेशन अवार्ड के लिए बैठक
 नवसंशोधकों की संकल्पना को प्रोत्साहन देने के लिए मनपा ने सत्कार कार्यक्रम का आयोजन किया है। 1 मार्च को मेयर इनोवेशन अवार्ड का आयोजन किया गया है। सुरेश भट सभागृह में शाम 6 बजे आयोजित समारोह में सम्मान किया जाएगा। आयोजन के संबंध में बुधवार को महापौर संदीप जोशी ने नगरसेवकों से संवाद साधा। संवाद बैठक में उपमहापौर मनीषा कोठे, स्थायी समिति सभापति प्रदीप पोहाणे, नेता प्रतिपक्ष तानाजी वनवे, बसपा गटनेता वैशाली नारनवरे, नरेंद्र बोरकर, नंदा जिचकार, प्रवीण दटके, मेयर इनोवेशन काउंसिल के समन्वयक डॉ.प्रशांत कडू , मुख्य प्रवर्तक केतन माहितकर उपस्थित थे। इनोवेशन अवार्ड के लिए 20 फरवरी तक आनलाइन आवेदन मंगाए जा रहे हैं। 
 

कमेंट करें
DsfPa