उफान पर विदर्भ के नदी-नाले : संजय सरोवर के खोले जाएंगे गेट-दूसरे राज्यों में हो रही मूसलाधार बारिश

July 25th, 2022

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली. जिलों में सोमवार की सुबह से हल्की बारिश जारी है। लेेकिन विदर्भ से सटे राज्यों में मूसलाधार बारिश के कारण यहां के नदी-नाले उफान पर है। गड़चिरोली की पर्लकोटा नदी सीमा रेखा से बाहर होने के कारण भामरागढ़ तहसील के दर्जनों गांवों से संपर्क टूट गया है। वहीं महाराष्ट्र राज्य से सटे मध्यप्रदेश के संजय सरोवर (भीमगढ़) जलाशय में जलस्तर लगातार बारिश के कारण बढ़ता जा रहा है। बांध के जलस्तर को नियंत्रित करने के लिए 25 जुलाई की रात 9 बजे आवश्यकता के अनुसार बांध के गेट खोले जाने की  सूचना गोंदिया जिला प्रशासन को प्राप्त हुई है। गेट खोले जाने के बाद सरोवर से 5 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जाएगा। जो वैनगंगा नदी से गोंदिया जिले तक पहुंचने में लगभग 25 घंटे का समय लगेगा यह जानकारी जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी ने दी है। 
गड़चिरोली जिले में हल्की बारिश जारी है, लेकिन छत्तीसगढ़ राज्य में हो रही मूसलाधार बारिश के कारण भामरागढ़ तहसील की पर्लकोटा नदी एक बार फिर सीमा रेखा के बाहर हो गई है। स्थानीय प्रशासन ने यातायात  बंद कर दिया है।  इस कारण क्षेत्र के दर्जनों गांवों का भामरागढ़ तहसील मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। जिले के अन्य स्थानों के नाले अनेक दिनों से सीमा रेखा के बाहर होने से यातायात व्यवस्था ठप पड़ी हुई है। 

गोंदिया शहर सहित जिले में रुक-रुककर हल्की बारिश होती रही।  इस बीच  महाराष्ट्र राज्य से सटे मध्यप्रदेश के संजय सरोवर (भीमगढ़) के 25 जुलाई की रात 9 बजे आवश्यकता के अनुसार गेट खोले जाने की पूर्व सूचना जिला प्रशासन को प्राप्त हुई है।  यवतमाल के निम्न वर्धा बांध के 31 गेट खोलकर पानी छोड़ा जा रहा है, जिससे वणी, मारेगांव में फिर बाढ़ आने की आशंका है। यहां के 3 गांव पहले ही टापू बने हुए हैं। इस दौरान शेलू खुर्द के 300 और भुरकी गांव के 462 लोग रविवार की रात बैलगाड़ियांे पर सवार और जरूरी समान लेकर स्थानांतरिए हो गए।  

वर्धा शहर में सोमवार की शाम को आधा घंटे मूसलाधार बारिश हुई। इसके बाद रिमझिम बारिश जारी है। अपर वर्धा बांध के सभी 13 गेट  खोले गये हैं।   निम्न वर्धा बांध के सभी 31 दरवाजे खोले गये हैं, जिससे देवली, आर्वी व हिंगणघाट तहसील में नदी किनारे रहनेवाले नागरिकों को सतर्क रहने की सूचना दी गई है। भंडारा  जिले में कुछ तहसीलों में तेज बारिश हुई। बाद में दिनभर हल्की बारिश जारी रही। सोमवार सुबह से गोसीखुर्द बांध के सभी 33 गेट खोलकर पानी छोड़ा गया।  चंद्रपुर जिले में सोमवार की सुबह से रिमझिम बारिश का दौर शुरू है। बारिश कम होने से बाढ़ग्रस्त, किसान तथा आम नागरिकों ने राहत की सांस ली।