जिले में अब तक 736.7 मिमी. औसत बारिश दर्ज: जिले में झमाझम बारिश का दौर जारी, गहरानाला उफान पर 4 घंटे बंद रहा नागपुर मार्ग

July 24th, 2022


छिंदवाड़ा। जिले में झमाझम बारिश का दौर जारी है। जिसके चलते नदी नाले उफान पर बने हुए है। लगातार हो रही बारिश से जलाशय भी लबालव भर गए है। जिसके चलते माचागोरा जलाशय के चार गेट खोल दिए गए है। जिससे पेंच नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है। रविवार को सुबह से रूक रूक कर जिला मुख्यालय सहित जिलेभर में बारिश होती रही। जिसके चलते गहरानाला उफान पर आ गया। सुबह 11 बजे से ही गहरानाला उफान पर आना शुरू हो गया था। लेकिन छिंदवाड़ा-नागपुर नेशनल हाइवे को दोपहर 3.30 बजे बंद कर दिया गया। जिससे सडक़ के दोनों तरफ भारी वाहनों की लंबी कतार लग गई। छोटे वाहनों को आमला-रामपेठ मार्ग से डायवर्ट किया गया। लेकिन बारिश के चलते इस मार्ग पर भी वाहनों को निकालने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शाम 6.40 बजे बाढ़ उतरने पर रास्ता खोला गया। नाला किनारे जमा गाद और वाहनों की घमाचौकड़ी से बार-बार जाम की स्थिति बनते रही।
   एक साथ कई सिस्टम एक्टिव
प्रदेश में एक साथ कई वेदर सिस्टम एक्टिव हो गए है। जिसके प्रभाव से आगामी कुछ दिनों में बादल मेहरबान रहेंगे। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार आगामी 48 घंटे में जिले में कई स्थानों पर तेज बारिश होने की संभावना जताई गई है।
  सौंसर में औसत बारिश 1300 के पार
जिले में सबसे ज्यादा बारिश का कहर सौंसर विकासखंड में दिखाई दे रहा है। एक जून से अब तक सौंसर में 1315 मिमी. औसत बारिश दर्ज की जा चुकी है। जो जिले की कुल औसत बारिश से 256 मिमी. बारिश दर्ज की गई। जवकि सबसे कम बारिश चौरई में 464.6 मिमी. दर्ज हुई है।
  24 घंटे में 29 मिमी. बारिश
जिले में बीते 24 घंटे में 29 मिमी. औसत बारिश दर्ज की गई। जिसमें छिंदवाड़ा में 9.6, मोहखेड़ में 2.4, तामिया में 14, अमरवाड़ा में 36.2, चौरई में 20, हर्रई में 29.6, सौंसर में 60, पांढुर्णा में 50.1, बिछुआ मेें 82.6, परासिया में 18.1, जुन्नारदेव में 34.4, चांद में 14.3 एवं उमरेठ में 6.2 मिमी. बारिश दर्ज हुई।