दैनिक भास्कर हिंदी: पति ने सिलबट्टे से पीटकर गर्भवती पत्नी को मौत के घाट उतारा 

October 24th, 2019

डिजिटल डेस्क सतना। नागौद थाना अंतर्गत पति ने मामूली विवाद पर पत्नी की सिलबट्टे से पिटाई कर दी। घायल महिला की इलाज के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गई। उधर परिजन की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए नागौद पुलिस ने आरोपी को हिरासत में ले लिया। पुलिस के मुताबिक मृतका गर्भवती थी, मारपीट के चलते साढ़े 5 माह के गर्भस्थ शिशु की भी मौत हो गई। जिला अस्पताल में 4 डॉक्टरों की टीम ने पोस्टमार्टम किया। टीम में डा. आरएन सोनी, डा. प्रमोद पाठक, डा. सुनील पांडेय के साथ डा. आदर्श मिश्रा शामिल थे। 
ये है मामला
पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सावित्री बुनकर 33 वर्ष पति धर्मेंद्र उर्फ लल्ला बुनकर और 4 वर्ष की बेटी नयंशी बुनकर के साथ खेरवाटोला-नागौद में रहती थी। धर्मेंद्र के पिता विसालीलाल, मां संपत, बड़े भाई राजकुमार और भाभी रेखा के साथ अन्य 2 भाई भी अगल-बगल से घर बनाकर रहते थे। मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात तकरीबन साढ़े 11 बजे धर्मेंद्र के बड़े भाई राजकुमार और पत्नी रेखा ने सावित्री की जोर से चिल्लाने की आवाज सुनी। ये लोग भागते हुए सावित्री के घर पहुंचे लेकिन दरवाजा अंदर से बंद था। राजकुमार ने शोर कर पड़ोसियों को बुलाया, सभी लोग दीवाल चढ़कर अंदर गए। घर के भीतर सावित्री लहू-लुहान पड़ी थी, धर्मेंद्र वहीं बगल में खड़ा था। 
ठेले से लेकर पहुंचे अस्पताल
राजकुमार ने धर्मेंद्र को दूसरे कमरे में बंद किया और पड़ोसियों की मदद से घायल सावित्री को ठेले में लेटाकर रात तकरीबन साढ़े 12 बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नागौद पहुंचे। हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। परिजन रात 1 बजकर 10 मिनट में लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। ड्यूटी डॉ. आदर्श मिश्रा ने भर्ती कर इलाज प्रारंभ किया, रात पौने 2 बजे मौत हो गई।
मां के पास बैठकर बिलख रही थी मासूम
घर की दीवार लांघ कर जब राजकुमार और घर के अन्य सदस्य सावित्री के घर पहुंचे तो महज 4 वर्ष की मासूम नयंशी घायल मां के पास बैठकर बिलख रही थी। बताया गया है कि सावित्री की शादी वर्ष 2014 में धर्मेंद्र के साथ हुई थी। धर्मेंद्र के पिता ने सभी भाइयों को अलग कर दिया था।