दैनिक भास्कर हिंदी: स्टोर में लगी आग कीमती दस्तावेज खाक, मामला नगर परिषद का

December 28th, 2018

डिजिटल डेस्क, सतना। रामनगर नगर परिषद के स्टोर रूम में अचानक लगी आग चर्चाओं का विषय बनी हुई है। बताया जाता है कि पिछले दिनों  लगभग 9 लाख के बिजली और अन्य उपकरणों की खरीदी में घोटोले के पर्दाफाश के बाद गुरुवार की रात 7 बजे के करीब स्टोर में रहस्यमयी परिस्थितियों में आग लगना बड़ी साजिश बतायी जा रही है। चर्चाएं हैं कि इस आग में कीमती दस्तावेज जलकर खाक हो गए हैं। मौके पर पहुंचे दमकल विभाग ने आग पर काबू पाया है।

आग किसी के द्वारा लगायी गई
प्रथम दृष्टया पुलिस का मानना है कि आग लगी नहीं, बल्कि लगाई गई है। उल्लेखनीय है, नगर परिषद में बिजली के उपकरणों के साथ अन्य उपकरणों की खरीदी के मामले में लगभग 9 लाख के घोटाले के बाद नगर परिषद के अध्यक्ष रामसुशील पटेल और तबके सीएमओ ब्रम्हानंद शुक्ला से साढ़े 3-3 लाख रुपए की रिकवरी की गई थी। जबकि 80 हजार रुपए की वसूली करते हुए स्टोर कीपर रामऔतार पटेल को हाल ही में हटा दिया गया था। आरोप हैं कि वर्षों से इसी मस्टरकर्मी के पास स्टोर का प्रभार था। रामनगर नगर परिषद का प्रभार नए सीएमओ देवरत्न सोनी और स्टोर का जिम्मा सहायक राजस्व निरीक्षक महेन्द्र तिवारी को सौंपने के बाद अंतत: स्टोर में गुरुवार की रात आग लग गई।  

स्टोर प्रभारी को दी जा रही धमकियां
पुलिस ने बताया कि घटना की शुरुआत जांच में पाया गया है कि स्टोर का प्रभार लेने से पहले नगर परिषद के सहायक राजस्व निरीक्षक महेन्द्र तिवारी को 3 दिसंबर को नगर परिषद के अध्यक्ष रामसुशील पटेल ने  मोबाइल पर स्टोर का चार्ज नहीं लेने की धमकी दी थी। श्री तिवारी को इस बात की चेतावनी दी गई थी कि अगर उन्होंने प्रभार लिया तो उन्हें फंसा दिया जाएगा। सहायक राजस्व निरीक्षक ने 4 दिसंबर को इस आशय की शिकायत रामनगर के मुख्य नगर पालिका अधिकारी और नगरीय प्रशासन के आयुक्त से भी की थी।