comScore

भरतीपुर में जुआडिय़ों ने पुलिस पर किया हमला, झूमा-झपटी कर भागे कई जुआड़ी

भरतीपुर में जुआडिय़ों ने पुलिस पर किया हमला, झूमा-झपटी कर भागे कई जुआड़ी


डिजिटल डेस्क जबलपुर। ओमती थाना क्षेत्र स्थित सामुदायिक भवन के पास बीती रात दुर्गा पंडाल के पीछे चल रहे जुए का फड़ पकड़े जाने पर जमकर बवाल मच गया। फड़ पकड़े जाने से उत्तेजित जुआड़ी मरने मारने पर उतारू हो गये और पुलिस टीम से झूमा-झपटी, गाली-गलौज शुरू कर दी। इस घटनाक्रम के चलते काफी देर तक हंगामा होता रहा और इस बीच कई जुआडिय़ों ने पुलिस पार्टी पर हमला करने की कोशिश की और कुछ जुआड़ी तो पुलिस को धमकाते हुए वहाँ से भाग निकले। उधर पुलिस ने 8 जुआडिय़ों को पकड़कर करीब 20 हजार रुपए व एक स्कूटी की जब्ती बनाई है।
     सूत्रों के अनुसार मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने भरतीपुर के पास दुर्गा पंडाल के पीछे घेराबंदी की, जिससे वहाँ पर भगदड़ मच गयी। पुलिस की तगड़ी घेराबंदी के कारण जुआड़ी पुलिस गिरफ्त में आ गये जिसके बाद करीब एक घंटे तक तमाशा चलता रहा और जुआडिय़ों ने पंडाल का फायदा उठाने की पूरी कोशिश की, जिससे विवाद की स्थिति निर्मित हुई और पुलिस को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। पुलिस के अनुसार पकड़े गये जुआडिय़ों में  संदीप जैन, प्रदीप जैन  दोनों निवासी जूड़ी तलैया, अभिलाष उर्फ कुक्कू सोनकर निवासी खटीक मोहल्ला, दीपक सोनकर निवासी छोटी ओमती धर्मकाँटा के पास, अनूप उर्फ बंटी सोनकर निवासी सामुदायिक भवन के पास छोटी ओमती, दुर्गेश उर्फ मुन्नू रजक निवासी नरघैया, रहीस उर्फ रफीज खान निवासी रद्दी चौकी, राजा सोनकर निवासी पेशकारी स्कूल को पकड़कर ताश के पत्ते व 19 हजार 350 रुपये व मौके पर खड़ी स्कूटी क्रमांक एमपी 20 एसएस 4472 जब्त की गई है।
-धमकाते हुए भागे जुआड़ी
प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार फड़ पकड़े जाने के बाद मचे विवाद के दौरान कई जुआड़ी पुलिस को धमकाते हुए भाग निकले। पुलिस सूत्रों के अनुसार फड़ पर जुआ खेल रहे जानू सोनकर निवासी गुरंदी बाजार, सोनू सोनकर निवासी बाई का बगीचा घमापुर चौक तथा सौरभ जैन निवासी साठिया कुआँ मौके से फरार हो गये। उधर चर्चा इस बात की है कि  जुआडिय़ों के विरुद्ध धारा 151 एवं 13 जुआ एक्ट के तहत कार्यवाही की गयी है, जबकि उनके द्वारा शासकीय कार्य में बाधा पहुँचाने का प्रयास किया गया, लेकिन दबाव के चलते इस धारा के तहत कार्रवाई नहीं की जा सकी।
बुलाना पड़ा अतिरिक्त बल
जानकारों के अनुसार फड़ पर छापे की कार्रवाई के बाद जमकर हुए विवाद के बाद ऐसा लग रहा था कि पुलिस एक भी जुआड़ी को अपने साथ नहीं ले जा पाएगी। हालात बिगड़ते देख अधिकारियों को सूचना दी गयी थी। उक्त सूचना के बाद तत्काल अर्ध सैनिक बल को भरतीपुर रवाना किया गया था। अतिरिक्त बल के पहुँचने के बाद मामला शांत हुआ और पुलिस ने जुआडिय़ों को काबू में कर उन्हें थाने पहुँचाया।

कमेंट करें
Q8c5t