दैनिक भास्कर हिंदी: चोरी के शक में मुस्लिम युवक की पिटाई से मौत, भीड़ ने लगवाए जय श्री राम के नारे

June 24th, 2019

हाईलाइट

  • अस्पताल में मौत के बाद मस्लिम युवक के परिजनों ने जमकर हंगामा किया
  • वायरल वीडियो में एक शख्स मुस्लिम युवक को डंडे से मारता नजर आ रहा है
  • परिजनों ने कहा कि पिटाई के दौरान भीड़ द्वारा जय श्री राम के नारे लगवाए गए

डिजिटल डेस्क, जमशेदपुर। झारखंड के सरायकेला जिले के खरसावां में चोरी के शक में भीड़ ने एक मुस्लिम युवक को जमकर पीटा, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। युवक की पहचान 24 साल के तबरेज अंसारी के रूप में हुई है। इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। जिसमें से एक वीडियो में साफतौर पर देखा जा सकता है कैसे एक शख्स तबरेज अंसारी को डंडे से मार जा रहा है।

परिजनों का कहना
तरबेज के परिजनों ने कहा कि पिटाई के दौरान उसे भीड़ द्वारा ‘जय श्री राम’ और ‘जय हनुमान’ का नारा लगाने को मजबूर किया गया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस घटना के वायरल हुए वीडियो के आखिर में एक शख्स द्वारा ऐसा किया जाना सामने आया है। इस पूरे मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है आरोपियों को पकड़ने की तलाश जारी है।

ये है मामला
मामला झारखंड के मॉब लिंचिंग का है, जहां यह घटना हुई है। यहां के खरसवां में मोटरसाइकिल चोरी के आरोप में तरबेज को भीड़ ने पकड़कर खंभे से बांध दिया था और सात घंटे से अधिक समय तक उसकी पिटाई की और उसे बुरी हालत में  18 जून को उसे पुलिस के हवाले किया गया। जिसके बाद कोर्ट ने तबरेज को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। वहीं 22 जून को बेहद खराब हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

मौत के बाद हंगामा
मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। उनका आरोप था कि तबरेज की सांसें चलने के बावजूद उसे मृत घोषित कर दिया गया। परिजनों की मांग पर उसे टीएमएच रेफर कर दिया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत होने की पुष्टि की। इससे पहले तबीयत बिगड़ने पर तबरेज को जेल से सदर अस्पताल लाया गया था। टीएमएच में भी परिजनों का हंगामा जारी रहा। आरोप लगाया कि तबरेज को साजिशन मारा गया है। 

एक आरोपी गिरफ्तार
इस घटना के एक आरोपी की पहचान पप्पू मंडल के रूप में हुई है, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। तबरेज अंसारी महाराष्ट्र के पुणे में वेल्डिंग का काम करता था। पत्नी साइस्ता परवीन की शिकायत पर सरायकेला थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गई। प्राथमिकी के अनुसार तबरेज 18 जून की रात, दो लोगों के साथ जमशेदपुर जमशेदपुर से खरसावां आ रहा था। झारखंड के एक समाज सेवक औरंगजेब अंसारी ने दावा किया है कि तबरेज को नहीं पता था कि वे दो युवक उसे कहां ले जा रहे हैं।

दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग 
इस दौरान दोनों युवक मौके से फरार हो गए और भीड़ ने तबरेज को पकड़ लिया, ग्रामीणों ने चोरी का आरोप लगाकर उसकी पिटाई शुरू कर दी। बाद में तबरेज को बिजली के पोल में बांधकर रात भर बेरहमी से पीटा। इस दौरान उससे जय श्रीराम व जय हनुमान का नारा लगवाया जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पत्नी ने दोषियों पर को कड़ी कड़ी सजा देने की मांग की है। इस पूरे मामले में एफआईआर दर्ज कर ली गई है आरोपियों को पकड़ने की तलाश जारी है।