दैनिक भास्कर हिंदी: कांग्रेस विधायक निलय के सतना सहित 20 ठिकानों पर आयकर के छापे - 5 लॉकर और करोड़ों की टैक्स चोरी के प्रमाण मिले

February 19th, 2021

व्हाट्सएप चैट और मोबाइल में मिला टैक्स चोरी का हिसाब
डिजिटल डेस्क सतना भोपाल ।
आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग, भोपाल की टीम ने कांग्रेस विधायक निलय डागा के यहां तीन राज्यों के छह शहरों में फैले 20 ठिकानों पर छापे मारे हैं। निलय का परिवार खाद्य तेलों के कारोबार में हैं। उनके बैतूल के साथ सतना और सोलापुर में सोया ऑयल के प्लांट हैं। आयकर विभाग की टीम ने अपने वाहनों के बड़े काफिले को आम लोगों की नजरों से बचाने के लिए सभी वाहनों पर नेटलिंक समिट के पंपलेट चस्पा कर रखे थे। सोया प्लांट का संचालन खुद विधायक निलय डागा समेत 4 भाई करते हैं। विभागीय सूत्रों ने बताया कि छापे के पहले दिन विभाग को करोड़ों रुपए की टैक्स चोरी के प्रमाण मिले हैं। डागा भाई आपस में ज्यादातर हिसाब किताब मोबाइल और व्हाट्सएप पर करते थे। इसलिए विभाग ने इनकी व्हाट्सएप को रिट्राइव कराया है। इसमें उसे बड़े पैमाने पर टैक्स चोरी मिलने की संभावना है। 
विभाग को कुल 5 लॉकर भी मिले हैं। यह लॉकर शुक्रवार या शनिवार को खोले जा सकते हैं। आयकर विभाग की टीम ने निलय डागा की कंपनी के मुंबई स्थित कॉरपोरेट ऑफिस, सोलापुर और सतना स्थित सोया प्लांट, बैतूल के कोसमी स्थित बैतूल ऑयल मिल, सतपुड़ा वेली स्कूल, कोठी बाजार स्थित निवास, परसवाड़ा स्थित गोदाम और बीज उत्पादक समिति के ऑफिस भी पहुंची। महाराष्ट्र में निलय का काली मिर्च और हल्दी का कारोबार है। 
निलय डागा की कंपनी पर प्लांट और मशीनरी में किए गए निवेश के एवज में टैक्स में गलत छूट लेने का एक मामला भी सामने आया था। उसकी जांच चल रही है। उनकी कंपनी ने राज्य सरकार से 8 करोड़ रुपए की छूट ले ली थी, जिसकी पात्रता उनकी कंपनी को नहीं थी। क्योंंकि वह तय समय सीमा के पहले ही निवेश की गई राशि का ढाई गुना बतौर छूट ले चुकी थी। इस मामले में डागा की कंपनी पर दोबारा टैक्स की देनदारी खड़ी की गई है।
मध्यप्रदेश की बड़ी सोया ऑयल कंपनी है बैतूल ऑयल 
बैतूल ऑयल कंपनी की स्थापना कांग्रेस विधायक निलय डागा के पिता स्व. विनोद डागा ने की थी। 1995 में इसकी कमान निलय के पास आई। कंपनी के पास रोजाना 370 टन ऑयल उत्पादन की क्षमता है। बैतूल स्थित प्लांट की क्षमता 100 टन रोजाना है। कंपनी ने प्रदेश के सतना और महाराष्ट्र के सोलापुर में दो सॉल्वेंट प्लांट लगाए हैं। इससे उसकी क्षमता बढ़कर 1250 टन रोजाना हो गई है। कंपनी के धूले महाराष्ट्र और देवास मप्र में 1.25 मेगावॉट क्षमता वाले विद्युत उत्पादन संयंत्र भी हैं।  
 

खबरें और भी हैं...