दैनिक भास्कर हिंदी: तीन तलाक पर शरद यादव ने कही ये बड़ी बात, साधा पीएम मोदी पर निशाना

December 29th, 2017

डिजिटल डेस्क, किशनगंज। जदयू के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव इन दिनों संवाद यात्रा पर निकले हैं। इस दौरान वह बिहार के विभिन्न जिलों में जाकर लोगों से मिलकर अपनी बात रख रहे हैं। शरद यादव गुरुवार को बिहार के किशनगंज जिले में पहुंचे थे। यहां उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह इस्लामी विद्वानों से विचार-विमर्श किए बगैर फौरी तीन तलाक पर विधेयक लाकर अपनी मर्जी थोपना चाह रही है। शरद यादव के साथ एक और जदयू के बागी नेता अली अनवर आए थे, जिन्होंने कहा कि "तीन तलाक पर कोई भी कानून इस्लामी विद्वानों से विचार-विमर्श पर आधारित होना चाहिए।"

 

 

अपनी मर्जी थोपना चाह रही सरकार

 

बता दें कि हाल ही में दोनों नेताओं को राज्यसभा की सदस्यता से अयोग्य घोषित किया गया है। शरद ने कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली सरकार सदन में विधेयक पेश कर अपनी मर्जी थोपना चाह रही है और अपने बचाव में इधर-उधर की बातें कर रही है। वहीं अली अनवर ने तीन तलाक पर कदम उठाने से पहले मोदी सरकार की ओर से ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड को विश्वास में नहीं लेने पर नाराजगी जाहिर की।

 

 


इसके अलावा दोनों नेताओं ने बिहार के सीएम एवं जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन सरकार बनाकर 2015 के विधानसभा चुनाव के जनादेश का अपमान किया है। शरद यादव ने कहा कि गुजरात का जिक्र करते हुए भी कहा कि हार्दिक पटेल सरकार के खिलाफ हैं और इसलिए हम लोगों ने उसका साथ लिया। एनडीए अपना असली एजेंडा छोड़कर मंदिर-मस्जिद, गाय और ताजमहल के पीछे लगी है। 

 

 

लालू यादव के पक्ष में अलापा सुर

 

वहीं लालू का पक्ष लेते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश और इनके लोगों के षडयंत्र के कारण ही लालू यादव चारा घोटाला में फंसे हैं। शरद ने कहा कि चुनाव के समय लालू नीतीश को नेता नहीं बनाना चाहते थे, लेकिन काफी मशक्कत से हम लोगों ने उन्हें नेता बनाया था। शरद यादव किशननगंज से जाने के बाद पूर्णिया के लिए निकलेंगे। वह वहां आज दिसंबर को यादव कॉलेज अररिया, रानीगंज, भतगामा, त्रवेणीगंज, 30 दिसंबर को मधेपुरा, मीरगंज, मुरलीगंज, कुमार खंड और 31 दिसंबर को सुपौल, मधुबनी, दरभंगा, मुजफ्फरपुर और हाजीपुर में लोगों से सीधा संवाद कर जनसभा को संबोधित करेंगे।