comScore

नागपुर के रहने वाले जस्टिस बोबडे रह चुके हैं एमपी हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश

नागपुर के रहने वाले जस्टिस बोबडे रह चुके हैं एमपी हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जस्टिस शरद बोबडे देश के 47वें मुख्य न्यायाधीश होंगे। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनकी नियुक्ति के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। जस्टिस बोबडे 18 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के बतौर मुख्य न्यायाधीश पद की शपथ लेंगे। मौजूदा मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई का 17 नवंबर को कार्यकाल समाप्त हो रहा है। उनके स्थान पर जस्टिस बोबडे मुख्य न्यायाधीश के रुप में शपथ लेंगे। जस्टिस बोबडे का कार्यकाल 18 महीने तक रहेगा। बीते 18 अक्टूबर को मुख्य न्यायाधीश गोगोई ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर सुप्रीम कोर्ट में अपने बाद वरिष्ठतम न्यायाधीश शरद बोबडे को अपना उत्तराधिकारी बनाने कि सिफारिश की थी। जस्टिस गोगोई ने गत 3 अक्टूबर 2018 को देश के 46वें मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ ग्रहण की थी।

नागपुर के रहने वाले जस्टिस बोबडे मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रह चुके है। साथ ही 2000 में वह बॉम्बे हाईकोर्ट के अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त हुए थे। इसके अलावा नागपुर में महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और मुंबई में महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के भी वह चांसलर बने थे। वह 12 अप्रैल 2013 को सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रुप में पदोन्नत हुए थे। 
 

कमेंट करें
ajpmZ