comScore

पटौंहा के ग्रामीणों ने दी मतदान बहिष्कार की चेतावनी

पटौंहा के ग्रामीणों ने दी मतदान बहिष्कार की चेतावनी

डिजिटल डेस्क, कटनी। चुनाव आते ही समस्याओं को लेकर लोग नेताओं और प्रशासन को चेताने लगते हैं क्योंकि चुनाव बीतते ही न तो जनप्रतिनिधि सुनते हैं और न ही अधिकारी सुध लेते हैं। समस्याओं को लेकर एक दिन पहले खिरवाखुर्द के ग्रामीणों ने रोड की समस्या को लेकर मतदान बहिष्कार की चेतावनी दी थी, अब रीठी तहसील के पटौंहा के लोगों ने रेल फाटक बंद करने एवं आधे अधूरे अंडरब्रिज को चालू करने को लेकर मतदान बहिष्कार की चेतावनी दी है। इसके अलावा ग्रामीणों ने नल जल योजना बंद होने पर रोष जताया है तथा राजस्व निरीक्षक मंडल का मुख्यालय रीठी में बनाए जाने की मांग की है।

प्रशासन ने भी कर  दी अनसुनी
कलेक्टर के नाम संंबोधित पत्र में ग्रामीणों ने बताया कि पटौंहा गांव के बीच से रेल लाइन गुजरी है। रेलवे ने दो माह पहले दो मार्च को फाटक संख्या क्रमांक 103 सी बंद कर दिया। रेलवे ने ग्रामीणों को लिखित आश्वासन दिया था कि अंडरब्रिज चालू कर दिया गया है। रेलवे ने यह भी आश्वासन दिया था कि दो माह के भीतर सभी कार्य पूर्ण कर दिए जाएंगे। ग्रामीणों ने आवेदन में कहा कि इस समस्या से तत्कालीन कलेक्टर को भी अवगत कराया था, लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। रेलवे ने भी कोई कार्य नहीं किया। जिससे ग्रामीणों का आवागमन मुश्किल हो रहा है। सरपंचपति नरेश राय, दिनेश कुमार राय, भदईराम आदि ने बताया कि अंडरब्रिज का एप्रोच रोड ऐसा बनाया है कि चढ़ाई ज्यादा है। मार्ग में भी बोल्डर बिछा कर छोड़ दिया है।

क्षतिग्रस्त हो गए पाइप
ग्रामीणों ने बताया कि पटौंहा की नल जल योजना 20 साल पुरानी है। पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो चुकी है। पानी चालू करते ही जगह-जगह से टूटने लगी है। जिसे बदला जाना आवश्यक है। पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने से घरों में पानी भी नहीं पहुंच पाता है। नयाटोला में सात हैंडपम्प लगे हैं, जिनमें से केवल एक चालू है और अन्य सूख चुके हैं। जिससे यहां के लोगों को भीषण जल संकट का सामना करना पड़ रहा है।

इनका कहना है
पटौंहा का मामला मेरे संज्ञान में है। आज कमीशनिंग के कार्य में व्यस्त थे। ग्रामीणों के आवेदन पर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।
- डॉ.पंकज जैन, कलेक्टर कटनी
 

कमेंट करें
xf7mG