• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Kidnapped on the pretext of withdrawing money from ATM to buy goods, demanded ransom of 50 lakhs

Crime : सामान खरीदने एटीएम से पैसे निकाल कर देने के बहाने कर लिया अपहरण, मांगी 50 लाख की फिरौती 

August 5th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्लाइवुड खरीदने के लिए एटीएम से पैसे निकालकर देने के बहाने कारोबारी को साथ ले जाने और फिर उसे अगवा कर परिवार से 50 लाख रुपए की फिरौती मांगने वाले चार आरोपियों को ठाणे के डोंबिवली इलाके में स्थित मानपाडा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने तेजी से जांच करते हुए आठ घंटे के भीतर आरोपियों को फिल्मी स्टाइल में दबोच लिया। मामले में पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में खुलासा हुआ कि वे बेरोजगार हैं और जल्द पैसे कमाने की चाहत में कारोबारी को अगवा कर फिरौती वसूलने की साजिश रची थी। मामले में गिरफ्तार आरोपियों के नाम संजय विश्वकर्मा, संदीप रोकडे, धर्मराज कांबले और रोशन सावंत है। मामले में एक और आरोपी की तलाश की जा रही है। हिम्मत नाहर नाम के जिस कारोबारी को आरोपियों ने अगवा किया था उनकी डोंबिवली इलाके में डिलक्स प्लाइवुड नाम की दुकान है। बुधवार को उनके पास बढ़ई का काम करने वाला विश्वकर्मा आया और कहा कि वह 3 लाख रुपए का प्लाइवुड खरीदना चाहता है। नाहर उसे पहले से पहचानते थे। बातचीत के बाद वह एटीएम से पैसे निकालकर एडवांस देने के बहाने नाहर को अपने साथ ले गया। नजदीकी एटीएम बंद होने का बहाना करते हुए वह नाहर को गाड़ी में बिठाकर आगे ले गया फिर आरोपियों ने उनका मोबाइल छीन लिया। रात साढ़े नौ बजे आरोपियों ने नाहर के परिवार को फोन कर कहा कि अगर उन्हें 50 लाख रुपए नहीं दिए गए तो वे नाहर की हत्या कर देंगे। परिवार ने मामले की शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए छानबीन के लिए अलग-अलग टीमें बनाई। 

हर घंटे ठिकाना बदल रहे थे आरोपी

आरोपी परिवार को पैसे लेकर कई बार अलग-अलग ठिकानों पर बुलाते रहे। इस दौरान पुलिसकर्मी भी सादे कपड़ों में स्थानीय नागरिक बनकर आसपास मौजूद रहते। आखिरकार आरोपियों ने नाहर के रिश्तेदार को शाहपुर में एक सुरंग के पास बुलाया। पुलिसकर्मी पहले से ही स्थानीय ग्रामीणों की तरह के परिधान पहनकर इलाके में पहुंच गए। इसके बाद कार से पैसे लेने पहुंचे तीन आरोपियों को पुलिस ने दबोच लिया। नाहर को पास में एक कमरे में बंद रखा गया था जहां दो आरोपी उन पर नजर रख रहे थे। पुलिस ने वहां पहुंचकर नाहर को सुरक्षित रिहा करा लिया और एक आरोपी को दबोच लिया जबकि दूसरा अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला। आरोपियों के पास से एक कार बरामद की गई है जिसे उन्होंने शिर्डी से किराए पर ली थी। पुलिस उपायुक्त सचिन गुंजाल ने बताया कि मामले में फरार आरोपी की तलाश की जा रही है।