दैनिक भास्कर हिंदी: जानिए - ऑटो ड्राइवर से कैसे डॉन बना रवि पुजारी, दक्षिण अफ्रीका से हुआ गिरफ्तार, अब मुंबई पुलिस की नजर

February 23rd, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। दक्षिण अफ्रीका से गिरफ्तार किए गए माफिया सरगना रवि पुजारी पर मुंबई पुलिस की भी नजर है। जबरन वसूली विरोधी पथक (एईसी) के एक अधिकारी ने बताया कि पुजारी के खिलाफ महानगर में जबरन वसूली के 50 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इनमें से आधे से ज्यादा मामले संगठित अपराध विरोधी कानून मकोका के तहत दर्ज किए गए हैं। भारत लाए जाने के बाद पुजारी को सबसे पहले कर्नाटक पुलिस के हवाले किया जाएगा जहां उसके खिलाफ सबसे ज्यादा मामले दर्ज हैं लेकिन इसके बाद मुंबई पुलिस भी उसे हिरासत में लेकर महानगर के व्यापारियों से वसूली में मदद कर रहे उसके गुर्गों पर भी शिकंजा कसने की कोशिश करेगी।

पुजारी को पिछले साल जनवरी महीने में सेनेगल में गिरफ्तार किया गया था जहां वह एंथोनी फर्नांडिस के फर्जी नाम से रह रहा था। इसके प्रत्यार्पण के लिए उस वक्त मुंबई पुलिस ने भी खुफिया एजेंसियों को उसके खिलाफ दर्ज 11 मामलों में कुछ अहम दस्तावेज सौंपे थे। मुंबई पुलिस के पास पुजारी के आवाज के नमूने, डीएनए सैंपल और उंगलियों के निशान भी है। लेकिन प्रत्यार्पण की कोशिशों के बीच पुजारी को सेनेगल की अदालत ने जमानत दे दी और वह फरार हो गया। इसके बाद भारतीय खुफिया एजेंसियों ने सेनेगल पुलिस के साथ मिलकर एक बार फिर जाल बिछाकर उसे स्थानीय एजेंसियों की मदद से दक्षिण अफ्रीका में गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद जरूरी कागजी कार्रवाई पूरी कर कर्नाटक पुलिस और खुफिया एजेंसियों की एक टीम उसे लेकर भारत रवाना हो गई। 15 साल से फरार पुजारी को रविवार देर रात भारत लाया जा सकता है। पुजारी के खिलाफ हत्या, धमकाने और जबरन वसूली के 200 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। उसने सलमान खान, शाहरुख खान, अक्षय कुमार राकेश रोशन, करण जौहर जैसी कई बड़े बॉलीवुड कलाकारों को धमकी दी थी। 

ऑटो ड्राइवर से बना डॉन

पुजारी शुरूआत में मुंबई में ऑटोरिक्शा चलाकर गुजर बसर करता था। 90 के दशक में उसने दाऊद गिरोह से अपराध की दुनिया में कदम रखा और 1993 में वह छोटा राजन के साथ दाऊद से अलग हो गया। लेकिन बाद में छोटा राजन के साथ भी उसके मतभेद हो गए और उसने अपना अलग गैंग बनाकर जबरन वसूली शुरू कर दी। 
 
 

खबरें और भी हैं...