दैनिक भास्कर हिंदी: विधानसभा चुनाव : प्रमुख उम्मीदवारों की पाठशाला रही है औरंगाबाद मनपा

October 8th, 2019

डिजिटल डेस्क, औरंगाबाद। शहर के तीन प्रमुख विधानसभा चुनाव क्षेत्र औरंगाबाद मध्य, औरंगाबाद पूर्व व औरंगाबाद पश्चिम में जितने भी प्रमुख उम्मीदवार खड़े हैं, या खड़े थे, वह कभी ना कभी महानगरपालिका के किसी न किसी पद से जुड़े रहे हैं। कोई वर्तमान नगर सेवक रहा है तो कोई पूर्व नगरसेवक। यानी इन उम्मीदवारों के लिए महानगरपालिका उनकी पाठशाला रही है।

औरंगाबाद मध्य 

औरंगाबाद मध्य विधानसभा चुनाव में शिवसेना उम्मीदवार प्रदीप जायसवाल एक ओर जहां नगरसेवक से लेकर महापौर तक का पद भाेग चुके हैं, वहीं वह विधायक व सांसद भी रहे हैं। नवोदित एमआईएम पार्टी के उम्मीदवार नासेर सिद्दीकी पहली बार नगरसेवक चुने गए। वह मनपा में एमआईएम के गुट नेता भी रहे हैं। इसी प्रकार वंचित बहुजन बहुजन आघाड़ी के उम्मीदवार अमित भुईगल भी नगरसेवक रह चुके हैं। 2014 के विस चुनाव में इम्तियाज जलील मात्र ऐसे उम्मीदवार रहे, जो बाहर से चुनकर आए। 

औरंगाबाद पूर्व 

औरंगाबाद पूर्व विधानसभा चुनाव क्षेत्र में अतुल सावे भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार हैं। वह वर्तमान विधायक तथा मंत्री भी हैं। वह भी बाहर से चुनकर आए। हालांकि, उनके पिता मोरेश्वर सावे तीन बार सांसद रहे हैं। लेकिन, राजू वैद्य जिन्होंने यहां से सावे के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में ताल ठोंकी है, वर्तमान में नगरसेवक हैं। हालांकि, अब उन्होंने नाम वापस ले लिया है। सपा उम्मीदवार कलीम कुरैशी की पत्नी इस समय नगरसेविका हैं। 

औरंगाबाद पश्चिम 

औरंगाबाद पश्चिम विधानसभा चुनाव क्षेत्र में वर्तमान विधायक संजय शिरसाठ जो महायुति के शिवसेना से उम्मीदवार हैं, नगरसेवक रह चुके हैं। इनसे लोहा लेने के लिए राजू शिंदे वर्तमान में भाजपा के नगरसेवक हैं, जबकि एमआईएम के उम्मीदवार अरुण बोर्डे की पत्नी इस समय नगरसेविका हैं। यानी कुल मिलाकर चुनाव मैदान में उतरे उम्मीदवारों का संबंध मनपा से जरूर रहा है।