comScore

विधायक के पीएसओ को दो लाख की फिरौती के लिए फोन करना पड़ा भारी - सलाखों के पीछे पहुंचा ठेकेदार 

विधायक के पीएसओ को दो लाख की फिरौती के लिए फोन करना पड़ा भारी - सलाखों के पीछे पहुंचा ठेकेदार 

डिजिटल डेस्क सतना। चित्रकूट के विधायक नीलांशू चतुर्वेदी के पीएसओ को फोन पर धमकी देकर 2 लाख की रंगदारी मांगने वाले सुखेंद्र कुशवाहा पुत्र रघुराज सिंह कुशवाहा 22 वर्ष निवासी मेहुती थाना कोटर को नयागांव पुलिस ने न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया है। गौरतलब है कि 31 जुलाई की शाम को विधायक के पीएसओ के मोबाइल पर अज्ञात व्यक्ति ने फोन करते हुए  अपना नाम शैलजा भाई बताया और 2 लाख रूपए की मांग की और पैसे नहीं देने पर गोली मार देने की धमकी भी दिया। तब पीएसओ के द्वारा विधायक को सूचित करने के साथ ही थाने में शिकायत की गई तो धारा 386 और 507 का अपराध पंजीबद्ध कर पुलिस टीम जांच में जुट गई। साइबर सेल ने तेजी से काम करते हुए धमकी वाले फोन के बारे में पड़ताल की तो उसकी लोकेशन अनूपपुर के कोतवाली क्षेत्र में मिली, लिहाजा वहां की पुलिस से संपर्क कर ठेकेदार सुरेंद्र को दो नाबालिग मजदूरों के साथ पकड़वा लिया गया। तीनों को रात में ही सतना लाकर पूछताछ की गई तो पता चला कि पुष्पराजगढ़ में ठेकेदारी करने वाले सुरेंद्र ने कुछ प्रवासी मजदूरों को शासन की योजना का लाभ दिलाने के लिए विधायक के पीएसओ का नंबर हासिल कर आधार कार्ड की फोटोकापी भेजी थी, तभी से उसके पास मोबाइल नंबर सुरक्षित था। 
फोन कर भूल गया था आरोपी
31 जुलाई की रात को आरोपी ने मजदूरों के साथ जमकर शराबखोरी करने के बाद 17 वर्षीय श्रमिक के मोबाइल से धमकी भरा फोन कर दिया। पकड़ में आने पर आरोपी ने कहा कि उसने मजाक में ही फोन किया था, इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि मामला पुलिस तक पहुंच जाएगा, वहीं दोनों नाबालिग पूरे घटनाक्रम से ही अनजान थे। ऐसे में सिर्फ सुखेंद्र को ही आरोपी बनाया गया।
 

कमेंट करें
kjhEt