comScore

पारिवारिक कलह के कारण मां-बेटी ने तालाब में लगाई छलांग, दोनो की मौत

पारिवारिक कलह के कारण मां-बेटी ने तालाब में लगाई छलांग, दोनो की मौत

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मां-बेटी ने मौत को गले लगा लिया। दोनो ने गुरुवार देर रात अंबाझरी तालाब में छलांग लगाई। रौंगटे खडे़ कर देने वाला यह वाकया पारिवारिक कलह के चलते हुआ, प्रारंभीक तौर पर यही पता चला है। इस बीच अंबाझरी थाने में आकस्मिक मृत्यु का प्रकरण दर्ज किया है। वाठोड़ा ले-आउट, विद्या नगर निवासी सविता राजू खंगार 45 वर्ष और उसकी बेटी रुचिता राजू खंगार 20 साल की थी। सविता गृहणी थी। जबकि रुचिता पढ़ाई कर रही थी। सविता का पति राजू खंगार निजी काम करता है। सविता और उसके देवर का परिवार संयुक्त रुप से रहता है। संयुक्त परिवार होने से आए दिन किसी न किसी बात को लेकर विवाद होते रहता था। गुरुवार रात भी उनमें कूलर को लेकर विवाद हो गया। तैश में आकर देवर ने सविता को तमाचा जड़ दिया। इससे विवाद और बढ़ गया। इसके बाद गुस्से में आकर सविता घर से बाहर निकल गई। मां को गुस्से से बाहर जाता देखकर, उसकी छोटी बेटी रुचिता भी उसके पीछे पीछे चल दी। यह देखकर सविता की बड़ी बेटी श्वेतल 22 वर्ष भी उन्हें समझाने पीछे गई। तीनों मां-बेटिया पैदल ही अंबाझरी तालाब पहुंची। श्वेतल अपनी मां और बहन को समझा रही थी,लेकिन सविता और रुचिता के मन में कुछ और ही चल रहा था। 

देवर के हाथ उठाने से सविता के आत्मसम्मान को ठेस पहुंची थी। जिससे अब वह जीना नहीं चाहती थी। इसी बीच देखते ही देखते सविता ने रुचिता और श्वेतल के सामने अंबाझरी तालाब में छलांग लगाई। उसके पीछे-पीछे रुचिता भी तालाब में कूद गई। रौंगटे खड़े कर देने वाला यह वाकया श्वेतल की आखों के सामने हुआ। इससे घबराकर श्वेतल ने पुलिस नियंत्रण कक्ष को सूचना दी। जिसके बाद दमकल विभाग के लोग मौके पर पहुंचे। खोजबीन के दौरान रात करीब साढ़े बारह बजे दोनों मां-बेटी सविता और रुचिता का शव बरामद किया गया है। शुक्रवार को पोस्टमार्टम होने के बाद शव परिजन को सौंप दिए गए। प्रकरण से परिवार के सदस्य बात करने की स्थिति में नही थे,लेकिन आत्महत्या के लिए जिम्मेदार व्यक्ति के खिलाफ प्रकरण दर्ज होने के संकेत मिले हैं। जांच जारी है

कमेंट करें
z9pwc