नागपुर: एमपीसीबी को घनकचरा निष्पादन में मिलीं खामियां

July 23rd, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर. महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल (एमपीसीबी) को मनपा द्वारा भांडेवाड़ी में जमा किए जा रहे घनकचरा निष्पादन में कई खामियां दिखाई दीं। गीला व सूखा कचरा एक ही जगह डाला जा रहा है। कंस्ट्रक्शन का मलबा भी उसी डंपिंग यार्ड में घनकचरे के साथ डाला जा रहा है। एमपीसीबी इसके पूर्व मनपा को नोटिस जारी कर चुका है। ताजा लापरवाही ध्यान में आने के बाद एमपीसीबी की तरफ से मनपा प्रशासन से जवाब मांगा जाएगा। एमपीसीबी ने मनपा के भांडेवाड़ी स्थित डंपिंग यार्ड में कई खामियां पाईं। गीले व सूखे कचरे का नियमानुसार निष्पादन नहीं हो रहा। गीले कचरे से निकलने वाला गंदा पानी समीप ही नाले में बह रहा है। जबकि गीले कचरे से निकलने वाले गंदे पानी के निष्पादन के लिए ट्रीटमेंट प्लांट लगाना जरूरी है। कंस्ट्रक्शन का मलबा भी यहीं डाला जा रहा है, जबकि इसे डंपिंग यार्ड में गड्डा करके उसमें डालना चाहिए। कचरे के साथ आने वाला प्लास्टिक भी उसी जगह डाला जा रहा है। आग की रोकथाम के लिए दमकल की टीम तो संसाधनों के साथ डटी है, लेकिन डंपिंग यार्ड में जितना कचरा जमा है, उसे देखते हुए यह व्यवस्था पर्याप्त नहीं है। घनकचरे को लेकर एमपीसीबी ने जो गाइडलाइन व नियमावली दी, उसका पूरी तरह पालन नहीं हाे रहा। 

मनपा से मांगा जाएगा जवाब : एमपीसीबी के सूत्रों ने बताया कि घनकचरा के उचित निष्पादन को लेकर इसके पूर्व मनपा को नाेटिस दिया गया था। एमपीसीबी की गाइडलाइन के अनुसार काम हो, इस बारे में मनपा को सूचित किया जाता है। गीला कचरा, सूखा कचरा, इमारत से निकलनेवाला मलबा, गीले कचरे से निकलनेवाले गंदे पानी की स्वतंत्र व्यवस्था,  प्लास्टिक को अलग करने आदि को लेकर कई खामियां देखी गई। पूरे मामले को लेकर मनपा प्रशासन से जवाब मांगा जाएगा।